कोरोना काल में अजवायन है रामबाड़

फेफड़ो के शुद्धीकरण में अहम भूमिका

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना से हाहाकार मचा हुआ है। कोरोना का दूसरी लहर ने संक्रमितों की सुनामी ला रखी है। हर दिन लाखो की तादाद में संक्रमित लोगों की संख्या दर्ज की जाती है। जिसके कारण देशभर के अस्पतालों में भी जगह नही है। वहीं जीवनरक्षक उपकरणों की भी कमी हो रही है। यही वजह है कि कोरोना काल में रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने के लिए कई घरेलू नुस्खे आजमाए जा रहे हैं ।

आप शायद ही जानते होंगे कि सेहत का खजाना हमारी रसोई में अजवाइन के रूप में मौजूद है । यह फेफड़ों के शुद्धीकरण में अहम भूमिका निभाता है। शरीर को प्रतिरोधक क्षमता को नई ऊर्जा देने वाली अजवायन खाने के साथ इसकी भाप लेने से भी शरीर को कई फायदे पहुंचते हैं।

ये हैं विशेषताएं

  • यह बहुत शक्तिशाली एंटी ऑक्सिडेंट है
  • विटामिन ए, सी-1, कॉपर, मैग्नेशियम, आयरन, फाइबर, और पोटेशियम का खजाना है

ये रोगों में फायदेमंद

  • फेफड़ो की शुद्धि
  • सर्दी, खांसी, जुखाम व मलगम की समस्या
  • सांस के रोग
  • सूजन घटाने में
  • गैस व कब्ज

ऐसे करे अजवायन का उपयोग

अदरक के रस के साथ सेवन से इसकी एंटी माइक्रोबियल विशेषता आंतों को स्वस्थ रखने के साथ भूख भी बढ़ाती है ।

अजवाइन को गर्म पानी में पकाकर भाप लेने से सर्दी
खांसी – जुकाम से राहत मिलती है। साथ ही मलगम को बाहर निकालने में भी मदद करता है।

रात में नींद न आने की समस्या है तो सोने से पहले अजवाइन का एक कप पानी पीने से से फेफड़ों को फायदा फायदा मिलता है।

अजवाइन का पानी पीने में सिर दर्द की समस्या से राहत मिलती है।

अजवाइन और शहद को गर्म पानी में उबालकर पीने से फेफड़ो को फायदा होता है।

कब्ज की समस्या है तो काले नमक के साथ खाने से यह समस्या भी दूर हो जाती है।

Leave a Reply