बीजेपी कल गहलोत सरकार के खिलाफ लाएगी अविश्वास प्रस्ताव

  • विधानसभा सत्र से पहले राजस्थान में फिर तेज हुई सियासी हलचल

  • बीजेपी का ऐलान- कल ही सदन में लाया जाएगा अविश्नास प्रस्ताव

जयपुर. राजस्थान में कल यानी शुक्रवार से विधानसभा का सत्र शुरू होने जा रहा है। सत्र की शुरुआत होने से पहले ही फिर से राज्य में सियासी हलचल तेज हो गई है।

बीजेपी कल ही सदन में अविश्वास प्रस्ताव लाएगी। गुरुवार को  विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने पार्टी की बैठक के बाद इसकी घोषणा की।

विपक्ष के इस ऐलान के बाद अशोक गहलोत सरकार की मुश्किलें बढ़ गई हैं। क्योंकि अब सदन में गहलोत सरकार को फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित साबित करना होगा।

राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने कहा, हो सकता है कि ये सरकार स्वंय अपनी तरफ से विश्वास मत के लिए प्रस्ताव लेकर आए। वो अपना काम करेंगे लेकिन हम अपने सहयोगियों के साथ कल ही विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव ला रहे हैं।

उन्होंने ये भी कहा, गहलोत सरकार जल्द गिरने वाली है, क्योंकि कांग्रेस अपने घर में टांका लगाकर कपड़े को जोड़ना चाह रही, लेकिन कपड़ा फट चुका है।

वहीं राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा, जिस तरीक से उन्होंने (गहलोत सरकार) मशक्कत की है शायद वो विश्वास मत का प्रस्ताव रखें लेकिन हम भी पूरी तरह से तैयार हैं अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए।

कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी का हार्ट अटैक से निधन, राहुल ने क्‍या कहा

ये सरकार हो सकता है कल सिर गिना दे लेकिन मुझे लगता है जनता की नजर में इस सरकार का जनमत गिर चुका है। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष पूनिया ने कहा, कांग्रेस सरकार अपने विरोधाभास से गिरेगी।

पिछले एक महीने से मुख्यमंत्री गहलोत बीजेपी पर यह झूठा आरोप लगा रहे हैं, लेकिन कांग्रेस दो फाड़ हो चुकी है और इनके आपस की अदावत से ही सरकार गिरेगी।

15 अगस्त को सहयोग से सुरक्षा अभियान की शुरुआत : शिवराज

गौरतलब है कि, 200 सीटों वाली राजस्थान की विधानसभा में 107 का आंकड़ा कांग्रेस के पास है और कई निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन मिला हुआ है।

बीजेपी के पास सहयोगी दलों सहित कुल 76 का आंकड़ा है, लेकिन हाल ही में हुए मनमुटाव और राजनीतिक उठापटक के बाद बहुमत साबित करना इतना आसान नहीं होगा।