बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से लिया संन्यास, मोदी कैबिनेट से हाल ही में हटाया गया था

पश्चिम बंगाल की आसनसोल सीट से है बीजेपी सांसद

नई दिल्ली। देश की राजनीति से आए दिन नए-नए झटका देने वाली खबरें आती रहती है। चाहे वह किसी राज्य के मुख्यमंत्री का कार्यकाल के बीच में ही इस्तीफा हो या फिर विपक्ष का पक्ष पर हमला। लेकिन इस बार खबर आई है पश्चिम बंगाल से। जहां पूर्व केंद्रीय मंत्री व बंगाल में बीजेपी के बड़े नेता बाबुल सुप्रियो ने राजनीति की गलियों से खुद को किनारे कर लिया है। उन्होंने राजनीति को अलविदा कहते हुए पोस्ट में लिखा है कि वह समाज सेवा के लिए ही राजनीति में आए थे और आगे भी समाज सेवा करते रहेंगे। क्योंकि उसके लिए राजनीति में आने की जरूरत नहीं।

फेसबुक पोस्ट से किया संन्यास का ऐलान

हाल ही में कुछ दिनों पहले अपने फेसबुक पोस्ट पर उन्होंने ऐसा कुछ लिखा था जिससे उनके संन्यास की अटकलें तभी लगाई जा रही थी। उन्होंने लिखा- मैंने कभी सबको खुश करने के लिए राजनीति नहीं की। यह मेरे लिए संभव नहीं है और मैंने कभी ऐसा करने का प्रयास भी नहीं किया इसलिए मैं सबके लिए अच्छा नहीं बन पाया। लेकिन अब अपने खिलाफ चल रही इन अटकलबाज़ियाें को कुछ ही देर पहले एक और फेसबुक पोस्ट लिख कर अपने इस्तिफे को लेकर स्पष्ट कर दिया।

अपने सांसद पद से भी इस्तीफा

पश्चिम बंगाल की आसनसोल सीट से भाजपा के सांसद बाबुल सुप्रियो अपने नाम के आगे पूर्व लगाने को बेताब दिखें। सुप्रियो ने अपने फेसबुक पोस्ट पर यह भी लिखा कि वह स्पष्ट रूप से अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे रहे है। हालांकि इससे पहले मोदी कैबिनेट से हटाए जाने के बाद उनके नाम के आगे पूर्व केंद्रीय मंत्री लगता था।

सिर्फ समाज सेवा के लिए राजनीति में आए थे

बाबुल सुप्रियो ने अपने पोस्ट में यह भी लिखा है कि वह सिर्फ समाज सेवा के लिए ही राजनीति में आए थे और लोगों की सेवा करने के लिए राजनीति में रहने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा है कि वे राजनीति से अलग होकर भी अपने उस उदेश्य को पूरा कर सकते हैं। हालांकि उन्होंने यह भी स्पष्ट किया है कि वह भाजपा के ही हिस्सा हैं और रहेंगे।

Leave a Reply