WhatsApp प्राइवेसी पॉलिसी से जुड़े अफवाहों से बचें

WhatsApp की नई पॉलिसी आने के बाद इसकी प्राइवेसी पर काफी सवाल उठ रहे है. WhatsApp ने पॉप-अप नॉटिफिकेशन के जरिए यूजर्स को इसके बारे में बताया था. WhatsApp यूज करते रहने के लिए यूजर्स को इसकी नई प्राइवेसी पॉलिसी को ऐक्सेप्ट करना ही होगा. इस वजह से WhatsApp यूजर्स चिंतित हो गए है. उन्हें अभी तक ये साफ नहीं है कि नई पॉलिसी से WhatsApp कितना डेटा फेसबुक के साथ शेयर करेगा.

WhatsApp यूजर्स के इस दुविधा को समझते हुए उसने एक ब्लॉग लिखा. अगर कंपनी इसी तरह ब्लॉग में ये भी इनफोग्राफिक बना कर लोगों को बताती कि कौन सा डेटा फेसबुक और थर्ड पार्टी के साथ शेयर किया जा रहा है तो और भी बेहतर होता.

WhatsApp ब्लॉग में कंपनी ने साफ किया कि वो यूजर्स के प्राइवेट चैट को ऐक्सेस नहीं कर सकता है. अब यहां आपके लिए ये समझना जरूरी है कि प्राइवेट चैट और यूजर्स का डेटा अलग अलग भी हो सकते हैं. क्योंकि चैट्स के अलावा भी वॉट्सऐप पर यूजर का डेटा होता है.

कंपनी ने बताया कि इसने हाल में ही प्राइवेसी पॉलिसी को अपडेट किया है. इसे लेकर उनके पास बहुत सारे सवाल आ रहे है. WhatsApp को लेकर कई तरह की अफवाहें भी फैल रही है. जिसमें से कुछ प्रश्नों का उत्तर कंपनी ने ब्लॉग के जरिए दिया है.

कंपनी ने कहा है कि उसने WhatsApp बनाने के लिए एक लंबी दूरी तय की है. जिससे लोगों को प्राइवेट चैट करने की सुविधा मिली है. कंपनी ने एक बार फिर साफ किया है कि नई पॉलिसी अपडेट दोस्त या रिश्तेदार के साथ चैट को प्रभावित नहीं करता है.

ये अपडेट चेंज बिजनेस अकाउंट से बातचीत को लेकर है. ये भी ऑप्शनल है. कंपनी किस तरह से डेटा लेती और उसका यूज करती है वो पूरी तरह से ट्रांसपेरेंट है. नए प्राइवेसी पॉलिसी पर उठ रहे कॉमन सवालों का WhatsApp ने जवाब दिया है.

क्या WhatsApp प्राइवेट चैट ऐक्सेस कर सकता है?

जब से WhatsApp की नई पॉलिसी आई है. तब से यूजर्स जानना चाह रहे है कि क्या WhatsApp उनके प्राइवेट चैट को ऐक्सेस कर सकता है. इसका सवाल का जवाब नहीं है. कंपनी ने दावा किया है कि सभी चैट end-to-end encryption से प्रोटेक्टेड होते है. इसलिए कोई भी आपके प्राइवेट चैट को ऐक्सेस नहीं कर सकता है. WhatsApp ने बताया कि वो हर चैट में end-to-end encryption का लेबेल लगा देता है. जिससे यूजर्स को पता चल सकें कि वो उनका चैट पूरी तरह से सुरक्षित है.

क्या WhatsApp यूजर के मैसेजिंग और कॉलिंग डेटा को ट्रैक कर सकता है?

एक और सवाल जो सबसे ज्यादा पुछा जा रहा है. WhatsApp कॉलिंग और मैसेजिंग डेटा को ट्रैक करता है या नहीं. कंपनी ने इसका जवाब देते हुए कहा है कि इसकी जानकारी सिर्फ मोबाइल कैरियर और ऑपरेटर के पास ही होता है. कंपनी के लिए दो बिलियन यूजर्स का डेटा रखना सिक्योरिटी और प्राइवेसी दोनों के लिए रिस्क है. इसलिए कंपनी इसकी जानकारी नहीं स्टोर करती है.

क्या फेसबुक WhatsApp कॉन्टैक्ट्स को ऐक्सेस कर पाएगा?

WhatsApp ने कहा है कि फेसबुक WhatsApp कॉन्टैक्ट्स को ऐक्सेस तभी कर सकता है जब यूजर्स उसका परमिशन देते है. कंपनी ने कहा है कि जब यूजर्स इसकी परमिशन देते है तो वो सिर्फ फोन नंबर को ऐक्सेस करते है. इससे मैसेजिंग तेज हो जाती है. इस जानकारी को फेसबुक के दूसरे ऐप के साथ शेयर नहीं किया जाता है.

क्या WhatsApp ग्रुप चैट प्राइवेट है?

जैसा कि कंपनी ने ब्लॉग में पहले ही बताया है कि WhatsApp के सभी चैट end-to-end encrypted होते है. जिसके कारण सेंडर और रिसीवर के अलावा उसे कोई और नहीं पढ़ सकता है.

मैसेज भेजने और स्पैम से बचाने के लिए WhatsApp ग्रुप मेंबरशिप का उपयोग करता है. इस डेटा को विज्ञापन के लिए फेसबुक के साथ शेयर नहीं किया जाता है. कंपनी ने एक बार फिर बताया कि सभी चैट end-to-end encrypted होते है. उन्हें सेंडर और रिसीवर के अलावा कोई और नहीं पढ़ सकता है.