एअर इंडिया की पायलट यूनियन ने वुहान से भारतीयों को लाने के क्रम में सचेत रहने को कहा

अमर भारती : कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर चीन के वुहान शहर से भारतीयों को निकालने के लिए उड़ानें संचालित करने की एअर इंडिया की तैयारी के बीच, इस एयरलाइन की एक पायलट यूनियन ने आगाह किया है कि वायरस का संक्रमण फैलने का खतरा है और किसी भी तरह का जोखिम उठाया नहीं जा सकता।एअर इंडिया के प्रमुख अश्वनी लोहानी को लिखे एक पत्र में, ‘इंडियन पायलट्स गिल्ड’ (आईपीजी) ने कहा कि यह मिशन सामान्य बचाव और राहत अभियानों से बहुत अलग होगा और नयी चुनौतियों के साथ-साथ बाधाएं भी पैदा होंगी।

इस पायलट यूनियन में लगभग 600 सदस्य हैं। एयर इंडिया ने कोरोना वायरस से प्रभावित चीन के हुबेई प्रांत से भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए दो उड़ानें संचालित करने की तैयारी की है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि चीन सरकार से इन दोनों उड़ानों के संचालन की अनुमति के लिए अनुरोध किया गया है।

यूनियन ने कहा, ‘‘इस स्थिति की जटिल और खतरनाक प्रकृति को देखते हुए, बेहतर यह होगा कि विमान के चालक दल के साथ इंजीनियरिंग, वाणिज्यिक और चिकित्सा जैसे प्रासंगिक विभागों के दक्ष और सबसे अनुभवी सदस्य भी साथ हों, ताकि इस मिशन को सुरक्षित रूप से पूरा करने में पूरी मदद सुनिश्चित हो सके।’’ चीन में कोरोना वायरस के संक्रमण से अब तक कुल 170 लोगों की मौत हो चुकी है और इससे संबंधित 7,711 मामले सामने आ चुके हैं।