बच्चों को बरगला रहे हैं आंदोलनकारी

अमर भारती : CAA  और NRC  के खिलाफ पिछले एक महिने से दिल्ली के शाहीनबाग में विरोध प्रदर्शन चल रहा है। नेशनल कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट(NCPCR) ने दक्षिणी पूर्वी दिल्ली के जिलाधिकारी को नोटिस जारी किया है।  संस्था ने शाहीन बाग प्रदर्शन में बच्चों को शामिल करने को लेकर आपत्ति दर्ज की है।

नेशनल कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट का कहना है कि बच्चों में गलतफहमी पैदा करके उन्हें प्रोटेस्ट में शामिल किया जा रहा है। एनसीपीसीआर ने 10 दिनों के अंदर अपने नोटिस का जवाब मांगा है। संस्था का यह भी कहना है कि बच्चों को ऐसे में मेंटल ट्रॉमा हो सकता है, ऐसे बच्चों की पहचान की जाए, साथ ही प्रशासन उनकी काउंसलिंग भी कराए।

नेशनल कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड राइट ने एक शिकायत मिलने के बाद प्रशासन को यह नोटिस जारी किया है। शिकायत में यह भी कहा गया है कि बच्चों के घरवाले उन्हें यह बताकर प्रोटेस्ट में ला रहे हैं कि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री उनकी नागरिकता के दस्तावेज मांगेंगे। अगर दस्तावेज नहीं हुए तो उन्हें डिटेंशन सेंटर में रखा जाएगा। डिटेंशन सेंटर में उन्हें कपड़ा और खाना भी नहीं दिया जाएगा।

शाहीन बाग में विरोध प्रदर्शन की शुरुआत व्यापक तौर पर 15 जनवरी से हुई। दिल्ली में शांतिपूर्ण तरीके से महिलाएं विरोध प्रदर्शन कर रही है। इस विरोध प्रदर्शन में बच्चे और बुजुर्ग भी शामिल हो रहे हैं।

रिपोर्ट-प्रिया राठौर