न्यायिक अधिकार क्षेत्र बढ़ाने के लिए अधिवक्ताओं ने निकाली कार व बाइक रैली

लखनऊ। बुधवार को अधिवक्ताओं ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ खंडपीठ से लेकर राजधानी के 1090 चैराहे तक कार व बाइक रैली निकाली। अधिवक्ताओं की मांग थी कि जीएसटी, शिक्षा और कंपनी लॉ अपीलेट अधिकरण राजधानी लखनऊ में बनाया जाए। अधिवक्ताओं की मांग थी कि लखनऊ बार एसोसिएशन का न्याय क्षेत्राधिकार बढ़ाया जाए जिसे लेकर वह लगभग 8 दिनों से लखनऊ हाई कोर्ट पर शांतिपूर्वक धरना दे रहे थे।

हजरतगंज के बजाए 1090 पर रोके गये अधिवक्ता


हाईकर्ट से निकली इस बाइक व कार रैली को अधिवक्ता हजरतगंज तक ले जाना चाहते थे। लेकिन पुलिस द्वारा बड़े मान मनव्वल के बाद उन्हें 1090 चैराहे पर रोका गया। अपनी मांगों को लेकर लगातार अधिवक्ताओं का कार्य बहिष्कार जारी है बता दें कि अवध बार एसोसिएशन ने भी 3 मार्च को हड़ताल जारी रखी। मंगलवार को हुई अवध बार एसोसिएशन की बैठक में उच्च न्यायालय की लखनऊ खंडपीठ का न्यायिक अधिकार क्षेत्र बढ़ाने का प्रस्ताव पारित किया गया था इस बैठक की अध्यक्षता अवध बार एसोसिएशन के अध्यक्ष एचजीएस परिहार कर रहे थे। परिहार ने बताया कि बैठक में लखनऊ खंडपीठ का क्षेत्राधिकार बढ़ाए जाने की मांग का प्रस्ताव भी पारित किया गया है। वही वकीलों की हड़ताल जारी रहने से न्यायिक कार्य भी खासा प्रभावित हुआ वही वादकरियो  को बुधवार को फिर मायूस होकर लौटना पड़ा और उन्हें  अपने मुकदमे की सुनवाई की अगली तारीख ही हाथ लगी।

Leave a Reply