अमर भारती : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने रेल मंत्रालय द्वारा अलीगढ़-हरदुआगंज फ्लाईओवर के निर्माण के लिए अपनी स्वीकृति दे दी है। रेलवे फ्लाईओवर की कुल लंबाई 22 किलोमीटर होगी।1285 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से परियोजना 2024-25 तक पूरी होने की उम्मीद है। अलीगढ़ जंक्शन स्टेशन पर एक शाखा लाइन बरेली-अलीगढ़ समाप्त होती है। हावड़ा की ओर से आने वाली और हरदुआगंज- बरेली जाने वाली ट्रेनें हावड़ा-नई दिल्ली मुख्य मार्ग से गुजरती हैं, जो भारतीय रेलवे का सबसे व्यस्त खंड है। भारी ट्रैफिक के कारण हावड़ा की ओर से आने

और हरदुआगंज- बरेली जाने वाली लोड माल गाड़ियों की सतह पार करने के लिए कोई रास्ता उपलब्ध नहीं है। इससे अलीगढ़ जंक्शन पर ट्रेनों का भारी ठहराव होता है। यह स्थान एक अड़चन बन गया है और काम करने वाली ट्रेन को बुरी तरह से प्रभावित कर रहा है जिससे देरी और गिरावट हो रही है और वैगन टर्न राउंड को भी कम किया जा रहा है। अलीगढ़ में फ्लाईओवर मौजूदा दिल्ली-हावड़ा मुख्य लाइन के ऊपर से गुजरना एक परिचालन आवश्यकता है और ट्रैफिक की गति में अड़चन को दूर करने के लिए अनिवार्य रूप से आवश्यक है। अलीगढ़ को हरदुआगंज से जोड़ने वाले फ्लाईओवर के निर्माण से देरी और रोक से बचा जा सकेगा।

—–

भरत पांडेय