अमर भारती : देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले में सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए अब घरेलू उड़ानों पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। नागरिक उड्डयन ने यह जानकारी देते हुए बताया कि मंगलवार आधी रात से देश में सभी उड़ानों पर रोक लगा दिया गया है।  इस दौरान कार्गो फ्लाइट पर पाबंदी लागू नहीं होगी। आजादी के बाद ऐसा कई बार हुआ है, जब देश की रफ्तार थम गई हो, लेकिन ये पहली बार ही हुआ है कि केंद्र सरकार ने पहले जनता कर्फ्यू लगाया हो और उसके बाद एक-एक करके दर्जन से अधिक राज्यों ने लॉकडाउन कर दिया हो।

सरकारों की सबसे बड़ी चुनौती 130 करोड़ में से अधिक से अधिक लोगों को घरों में रखना है। कल आधी रात से घरेलू उड़ानों पर रोक, कार्गो फ्लाइट पर पाबंदी लागू नहीं होगी कोरोना वायरस के कारण देश में सभी घरेलू उड़ानों पर रोक लगा दी गई है।  केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय  ने यह जानकारी दी है। कोरोना वायरस के मामले में देश में बढ़ ना पाएं और  इसके चलते भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को पूरी तरह से बंद कर दिया। पहले ये फैसला कोरोना प्रभावित देशों के लिए हुआ था,

लेकिन बाद में सभी के लिए ऐसा कर दिया गया. साथ ही विदेशी नागरिकों की एंट्री भी बंद कर दी गई। घरेलू विमान सेवाएं पूरी तरह बंद करने की ममता ने की थी मांग  इससे पहले कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर घरेलू विमान सेवाओं को भी पूरी तरह बंद करने का अनुरोध किया था। केंद्र सरकार ने दूसरे देशों से आने वाले विमानों के देश में उतरने पर रविवार से ही प्रतिबंध लगा दिया है।

ममता ने अब पीएम से घरेलू विमान सेवाओं को भी बंद करने की अपील की थी। पत्र में ममता ने खासकर बंगाल आने वाले सभी विमानों की आवाजाही तुरंत रोकने की मांग की थी। साथ ही यहां के सभी एयरपोर्ट पर भी कामकाज फिलहाल स्थगित रखने की बात कही है। इससे पहले मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार से बंगाल आने वाली सभी ट्रेनों की आवाजाही बंद करने की भी मांग की थी।

——

भरत पांडेय