अमर भारती : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई जीतने का भरोसा जताते हुए कहा कि विश्व कोविड-19 की एक अदृश्य सेना के खिलाफ युद्ध लड़ रहा है। ट्रम्प ने मंगलवार को कहा कि देश इस वायरस से खिलाफ लड़ाई में हर उपलब्ध संसाधन का इस्तेमाल कर रहा है। अमेरिका में इस वायरस से अभी तक 105 लोगों की जान जा चुकी है और विश्व में 7,000 से अधिक लोगों की मौत इससे हुई है।

ट्रम्प ने ट्वीट किया, ‘‘ विश्व एक छुपे हुए दुश्मन के खिलाफ युद्ध लड़ रहा है। ’’ व्हाइट हाउस में एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा, ‘‘ हमें इससे छुटकारा पाना होगा, हमें सही तरीके से और जल्दी यह युद्ध जीतना होगा। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हमें विमानन उद्योग की मदद करनी होगी। यह उनकी गलती नहीं है। ’’इससे पहले उन्होंने पत्रकारों से कहा , ‘‘ हमें इस अदृश्य दुश्मन के खिलाफ लड़ना होगा।’’साथ ही उन्होंने कहा कि उनका प्रशासन इस दुश्मन को मात देगा।

वहीं अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने चीन पर आरोप लगाया कि वह कोरोना वायरस के संबंध में अपनी जिम्मेदारी से ध्यान हटाने के लिए दुष्प्रचार अभियान चला रहा है। पोम्पिओ ने मंगलवार को पत्रकारों से कहा, ‘‘ यह आरोप-प्रत्यारोप का समय नहीं है। अब समय वैश्विक महामारी को रोकने और उसके अमेरिकियों तथा विश्वभर में फैलने के खतरे को कम करने के लिए काम करने का है। ’’

अमेरिका के वुहान में कोरोना वायरस फैलाने के चीन के आरोप पर उन्होंने कहा, ‘‘ यह दुष्प्रचार अभियान वह अपनी जिम्मेदारियों से ध्यान हटाने के लिए चला रहे हैं।’’ इस बीच, ट्रम्प ने लोगों से घर में अपने समय का लुत्फ उठाने को कहा। ट्रम्प ने कहा, ‘‘ मैं बस यह कहूंगा कि आप घर में अपने समय का लुत्फ उठाएं। मैं बस यहीं कह सकता हूं कि अभी बस हमें इस समस्या से निपटना होगा और सामान्य जीवन को पटरी पर लाना होगा।’’