अमर भारती :भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर का मानना है कि जहां तक सीमित ओवरों के क्रिकेट की बात है तो स्टीव स्मिथ की तुलना में विराट कोहली कहीं अधिक बेहतर बल्लेबाज हैं। कोहली ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में 43 शतक की मदद से 11000 से अधिक रन बनाए हैं जबकि स्मिथ आठ शतक से अब तक 4000 रन के करीब ही पहुंचे हैं।

आस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की तीन मैचों की श्रृंखला के पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच से पूर्व गंभीर ने  स्टार स्पोर्ट्स से कहा, सीमित ओवरों के क्रिकेट में स्टीव स्मिथ की तुलना में विराट कोहली कहीं अधिक बेहतर है। दोनों के बीच कोई तुलना नहीं है। मैं सीमित ओवरों के क्रिकेट में कोहली की स्मिथ से तुलना नहीं करूंगा। मैं असल में देखना चाहता हूं कि स्मिथ किस क्रम पर बल्लेबाजी करता है। उन्होंने कहा, वह उसे चौथे नंबर पर उतारेंगे या तीसरे नंबर पर मौका देंगे और (मार्नस) लाबुशेन को चौथे नंबर पर भेजेंगे।

गेंदबाजी विभाग में गंभीर का मानना है कि जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी अपनी गति से मंगलवार को शुरू हो रही एकदिवसीय श्रृंखला में आस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों केा परेशान कर सकते हैं। गंभीर ने कहा, मैं यह देखने के लिए रोमांचित हूं कि ये दोनों सीमित ओवरों के क्रिकेट में शानदार फार्म में चल रहे डेविड वार्नर या आरोन फिंच जैसे शीर्ष बल्लेबाजों को सपाट पिचों पर कैसी गेंदबाजी करते हैं।

उन्होंने कहा, लेकिन सर्वश्रेष्ठ चीज यह है कि उनके पास गति है। वह अपनी गति से विकेट हासिल कर सकते हैं। गंभीर का मानना है कि भारतीय टीम प्रबंधन ने ओल्ड ट्रैफर्ड की तेज गेंदबाजी की अनुकूल पिच पर शमी को विश्व कप सेमीफाइनल मुकाबले से बाहर रखकर गलती की थी। पूर्व सलामी बल्लेबाज गंभीर का मानना है कि शमी वानखेड़े स्टेडियम जैसी सपाट पिच पर कहीं अधिक प्रभावी होंगे।

उन्होंने कहा, मेरा हमेशा से मानना है कि जब आप सपाट पिचों और वानखड़े या बेंगलुरू जैसे छोटे मैदानों पर खेलते हैं तो आपको गेंदबाजों को अधिक जिम्मेदारी लेनी होती है। मोहम्मद शमी जिस फार्म में हैं वह भारत के लिए फायदे की स्थिति है। जसप्रीत बुमराह चोट के बाद वापसी कर रहा है लेकिन वह स्तरीय गेंदबाज है।