अमर भारती : क्रिकेट प्रशंसक अपनी टीम को प्रोत्साहित करने के लिए हर कामयाब कोशिश करते है। वह बड़े-बड़े पोस्टर, बैनर और प्लेकार्ड पर अपने दिल की बातें भी लिखते है। पर अब गुवाहाटी में फैंस को यह सब ले जाने की इजाज़त नहीं होगी।

क्यों अब फैंस पर लगाया गया ऐसा प्रतिबंध?

दरअसल, भारत और श्रीलंका के बीच गुवाहटी में रविवार को पहला टी-20 का मुकाबला होगा। इस मैच में खास सतर्कता बरती जा रही है। यह मैच बारसपारा क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा। जिसके दौरान कोई भी व्यक्ति स्टेडियम के अदंर पोस्टर, बैनर या प्लेकार्ड नहीं ले जा सकेगा।

असम क्रिकेट एसोसिएशन (एसीए) के सचिव देवजीत सैकिया ने कहा कि निर्देशों का नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) पर विरोध के साथ कोई लेना-देना नहीं है, जिससे राज्य के अधिकांश भाग बाधित हो गए। जिसके कारण कर्फ्यू, इंटरनेट शटडाउन और कम से कम चार मौतें हुई हैं।

देवजीत सैकिया ने कहां कि “न केवल असम के लोग, बल्कि हर कोई चिंतित है। यह एक अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम है और इसमें सुरक्षा उपायों को बढ़ाया जाएगा”।  सैकिया ने 2017 में गुवाहाटी में खेले गए टी-20 के बाद ऑस्ट्रेलिया की टीम बस की खिड़की तोड़े जाने की घटना का भी उल्लेख किया।

खैल के दौरान 6 और 4 के प्लेकार्ड भी ले जाने की अनुमति नहीं होगी क्योंकि उनका प्रयोग विज्ञापन के लिए भी किया जा सकता है। स्टेडियम के अंदर केवल पुरूषों के पर्स, महिलाओं का हैंडबैग, फोन और गाड़ीयों की चाबी ले जाने की ही अनुमती है। उन्होनें कहां कि मार्कर ले जाने पर भी प्रतिबंध है।

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि आमतौर पर ‘4 ’और ‘6’ प्रिंट वाले प्लेकार्ड की व्यवस्था सीरीज के प्रायोजकों द्वारा की जाती है। इन्हें अनुमति नहीं दिए जाने को लेकर बोर्ड को अब तक कोई जानकारी नहीं मिली है। अधिकारी ने कहा, “हालांकि स्थानीय अधिकारियों ने इस पर जो भी कहा है, बीसीसीआई उसका पालन करेगा”।

बता दें की भारत और श्रीलंका 3 मैचों की पारी खेलेंगी। रविवार को गुवाहाटी के बाद इंदौर 7 जनवरी दुसरा और पुणे 10 जनवरी को तीसरा मैंच खेला जाएगा।

रिपोर्ट-प्रिया राठौर