अमर भारती : पाकिस्तान के लाहौर में शनिवार एक बम धमाका होने की खबर है, इसमें तल्हा सईद मोहम्मद अली रोड स्थित जामा मस्जिद अली-ओ-मुर्तजा में एक बैठक कर रहा था, तभी धमाका हुआ। पाक का आतंकी मास्टर माइंड और आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज सईद जो मुंबई में हुए बम धमाके का मास्टर माइंड था, उसका बेटे तल्हा सईद बाल-बाल बच गया। इसके तुरंत बाद तल्हा को वहां से निकाल लिया गया। इस धमाके में एक लश्कर समर्थक के मारे जाने की खबर है, जबकि 6 लोग जख्मी बताए जा रहे हैं। हालांकि, पाकिस्तानी मीडिया ने पहले इसे गैस सिलेंडर में धमाका बताया था, लेकिन बाद में इसके बम धमाके की पुष्टि हुई।

पाकिस्तान इस हमले को लेकर भारत पर शक कर रहा है, जिसमें खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (RAW) को जिम्मेदार बता रहा है, लेकिन भारत ने इसे सिरे से खारिज कर दिया है। इस बम ब्लास्ट में अहम खुलासा हुआ है, इस ब्लास्ट के जरिए लश्कर-ए-तैयबा के प्रमुख हाफिज मुहम्मद सईद के बेटे तल्हा सईद को निशाना बनाने की कोशिश की गई थीपुलिस ने जांच में पाया गया है कि जहां धमाका हुआ था, वहां के एयर-कंडिशनर रिपेयर स्टोर के स्टील का शटर में काफी मात्रा में छर्रे लगे थे, ऐसा तब होता है, जब बम में बॉल बेयरिंग का इस्तेमाल किया जाता है। हाफिज सईद का यह बड़ा बेटा लश्कर-ए-तैयबा को कमांड करता है, मिली जानकारी के अनुसार वह भारत के खिलाफ आतंकी गतिविधियों की साजिश भी रचता है।