अमर भारती : उन्नाव में इस पीड़िता के साथ ये घटना पहली बार नहीं हुई, उसके साथ पहले भी रेप की घटना हो चुकी थी इसको लेकर मार्च में रायबरेली के लालगंज थाना क्षेत्र में एक केस दर्ज हुआ था। गैंगरेप के इन्हीं आरोपियों ने जलाकर मारने की घटना को अंजाम दिया है।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, रेप केस की सुनवाई के लिए गुरुवार सुबह रायबरेली जाने के लिए पीड़िता स्टेशन की तरफ जा रही थी, तभी रेप केस में नामजद दो आरोपियों समेत 5 लोगों ने पेट्रोल डालकर उसे जला दिया। चीखें सुनकर इकट्ठा हुए राहगीरों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर आई पुलिस उसे लेकर सबसे पहले सुमेरपुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पीएचसी पहुंची। नाजुक हालत में उसे उन्नाव जिला अस्पताल भेज दिया गया।पीड़िता ने अपने बयान में आरोपियों के नाम, हरिशंकर त्रिवेदी, किशोर, शुभम, शिवम और उमेश बताए, पीड़िता के परिवार का कहना है कि गैगरेप के यह आरोपी जेल से छूटकर आए तो पिछले दो दिनों से धमकी दे रहे थे।

पीड़िता की हालत गंभीर बनी हुई है, अधिकारियों के मुताबिक पीड़िता 70-80 फीसदी तक जली हुई है पीड़िता ने पांच आरोपियों के नाम बताए हैं, इनमें से 3 को पहले पकड़ लिया गया था। बाद में दो आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

पाड़िता को गुरुवार शाम लखनऊ से एयर लिफ्ट कराकर दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने पीड़िता को बिना वक्त गवांए एंबुलेंस से अस्पताल तक पहुंचाने के लिए हवाई अड्डे से अस्पताल तक ग्रीन कॉरीडोर बनाया।

हवाई अड्डे के टर्मिनल वन से सफदरजंग अस्पताल तक 13 किलोमीटर के रास्ते को 18 मिनट में तय किया गया, अस्पताल के आपातकालीन विभाग के आईसीयू में पीड़िता को भर्ती किया है जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।

पीड़िता का इलाज कर रहे डॉक्टरों का कहना है कि उसके कई अंग जल जाने के कारण कुछ अंग फेल होने का खतरा है, इसलिए डॉक्टरों का कहना है कि आईसीयू में कब तक वह रहेगी इस बारे में कुछ भी नहीं कह सकते।