अमर भारती : देश में फर्जी बाबाओं की कोई कमी नहीं है। इस लिस्ट में कई बाबाओं के नाम शामिल है। जिसमें राम रहीम, आसाराम और भी कई सारे हैं। इस लिस्ट में स्वयंभू बाबा स्वामी नित्यानंद का नाम भी जुड़ गया है। नित्यानंद के खिलाफ तमिलनाडु के एक पीड़ित परिवार ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें परिवार ने अपनी 15 साल की बच्ची को बंधक बनाए जाने के बारे में बताया।

उसके तीन दिनों के बाद नित्यानंद के दो सहयोगियों को गिरफ्तार कर लिया गया। पीड़िता ने बताया कि वह मई 2013 में गुरुकुल में आई थी, पहले हमसे मनोरंजक गतिविधियां कराई जाती थीं यानी कुछ नई-नई चीजे जैसे डांस, संगीत, और साल 2017 से यहां पर उनका शोषन शुरु हो गया। जिसमें बच्चों को चंदा इकट्ठा करने के लिए बंधक बनाया जाता था, साथ ही मानसिक प्रताड़ना भी दी जाती थी।

बाबा के इस जुर्म में उनकी दो सेविकाऐं भी साथ हैं। जो बच्चों का अपहरण कर पुष्पक सिटी में छिपाए रखने का काम करती थीं। हालाकि इसके सबूत भी मिले थे, इसके चलते बुधवार की सुबह आश्रम की संचालिका प्राणप्रिया और प्रियतत्वा की धरपकड़ की गई। बी 107 नम्बर के मकान में बच्चों के सामान और पूजन के समान भी मिले। इसके चलते कार्रवाई की गई। आश्रम में बच्चों को 10 दिनों तक छिपाए रखा गया था। बंधक बने बच्चों की उम्र 9 और 10 वर्ष है।