अमर भारती : छत्तीसगढ़ में भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल के जवानों में आपस में गोलीबारी, नक्सल प्रभावित नारायणपुर जिले में तैनात एक जवान ने गोलीबारी की जिसमें कुल छह जवानों की मौत हो गई तथा दो अन्य घायल हो गए। इसमें हमला करने वाला जवान भी शामिल है।

बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी ने बताया कि जिले के धौड़ाई पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत कड़ेनार गांव में स्थित आईटीबीपी की 45वीं बटालियन के शिविर में जवान मसुदुल रहमान ने अचानक गोलीबारी शुरू कर दी। इस घटना में चार जवानों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई तथा तीन अन्य जवान घायल हो गए।पुलिस अधिकारियों ने कहा कि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हुई है कि हमलावर जवान ने आत्महत्या की या जवाबी कार्रवाई में उसकी मौत हुई है। सुंदराज ने बताया कि इस घटना में हिमाचल प्रदेश निवासी प्रधान आरक्षक महेंद्र सिंह, पंजाब निवासी प्रधान आरक्षक दलजीत सिंह, पश्चिम बंगाल निवासी आरक्षक सुरजीत सरकार और आरक्षक बिश्वरूप महतो और केरल निवासी आरक्षक बीजीश की मौत हो गई जबकि केरल निवासी एस बी उल्लास और राजस्थान निवासी सीताराम दून घायल हुए हैं।

इससे पहले पुलिस ने आशंका जताई थी कि रहमान जवाबी कार्रवाई में मारा गया है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि अभी तक यह जानकारी नहीं मिली है कि रहमान ने खुद को गोली मारी या उसके साथियों ने जवाबी कार्रवाई में उसे मार गिराया। इस घटना में मारे गए जवानों की राइफल की जांच के बाद ही जानकारी मिल सकेगी कि जवानों ने रहमान पर गोली चलाई है या नहीं। इस संबंध में जानकारी ली जा रही है।