अमर भारती : दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ के मौजूदा अध्यक्ष रजत शर्मा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इसके पीछे की वजह यह है कि डीडीसीए के बाकी निदेशकों ने प्रस्ताव पास करके उनकी शक्तियां छीन ली थीं। ऐसे में उनका काम कुछ खास रह नहीं गया था। इसी बात को उनके फैसले का कारण फिलहाल माना जा रहा है।

इससे पहले अगर आपको मालूम हो कि रजत शर्मा ने डीडीसीए अध्यक्ष रहते दिल्ली के ऐतिहासिक स्टेडियम फिरोजशाह कोटला का नाम बदलकर अरुण जेटली स्टेडियम रखने का प्रस्ताव दिया था, जिसे मंजूरी भी मिली थी और नाम बदला गया था। रजत शर्मा के इस्तीफे के फैसले की जानकारी का पता डीडीसीए के ट्विटर अकाउंट से चला है।

रजत के इस फैसले को लेकर डीडीसीए ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है कि रजत शर्मा ने डीडीसीए के अध्यक्ष पद से तत्काल प्रभाव से इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफे को एपेक्स काउंसिल को भेज दिया गया है। इससे पहले जाने माने पत्रकार रजत शर्मा को पिछले साल जुलाई 2018 में डीडीसीए का अध्यक्ष बनाया गया था। जबकि इस रेस में रजत शर्मा के सामने पूर्व क्रिकेटर मदनलाल थे।

सूत्रो के मुताबिक रजत का कहना है कि उनके लिए यहां काम करना आसान नहीं था, लेकिन फिर भी सबके विश्वास ने उन्हे ताकत दी। आज मैंने डीडीसीए का अध्यक्ष पद छोड़ने का फैसले किया है और अपना इस्तीफ़ा एपेक्स काउंसिल को भेज दिया है। आपने जो प्यार और सम्मान मुझे दिया है उसके लिए सबका धन्यवाद।