अमर भारती : फर्रुखाबाद थाना मऊदरवाजा महिला सिपाही के आवास में उसकी भतीजी रिशु ने फांसी लगाकर जान दे दी हादसे की जानकारी मिलते ही पुलिस कर्मियों में हड़कंप मच गया। रिशु जनपद मैनपुरी थाना बेवर के ग्राम कूड़ी निवासी हरवीर सिंह यादव की 14 वर्षीय पुत्री थी रिशु बेवर के कालेज में कक्षा नौ की छात्रा थी। वह बीते 1 वर्ष से चाचा अभिनव यादव की पत्नी रीना के पास 2 वर्षीय बच्चे की देखभाल करने के लिए उनके आवास में रहती थी।

रीना कोतवाली फतेहगढ़ में सिपाही पद पर तैनात है रीना के घर पर उसके पति इंजीनियर अभिनव यादव का बेवर निवासी दोस्त अमित कुमार के साथ घर पर थे। सिपाही रीना ड्यूटी पर थी| अभिनव अपने दोस्त अमित के साथ किसी काम से सायं बाजार चले गए और रिशू से कह गए थे कि कि बच्चे की देखभाल करना। सायं 5 बजे पड़ोस में रहने वाले दीवान श्रीकृष्ण की पुत्री शिल्पी आदि महिलाओं ने रीना के बच्चे के रोने की काफी देर तक आवाज सुनी।

शिल्पी ने मेन गेट के पास लगे जाल में हाथ डालकर अंदर से बंद कुंडी खोली और जब वह किचन में गई तो वहां रिशु का शव दीवाल की कील में दुपट्टे से लटका देख कर भौचक्की रही गई। शिल्पी के शोर मचाने पर पड़ोस की महिलाएं वहां पहुंची किचन में गैस पर रखा दूध जल गया था कमरे में बच्चा बुरी तरह विलख रहा था।

हादसे की सूचना मिलते ही महिला सिपाही रीना व उसके पति आवास पर पहुंचे| सूचना पर एएसपी त्रिभुवन सिंह व सीओ सिटी मन्नी लाल गौड़ मौके पर थाना मऊदरवाजा पहुंचे तथा घटना के बावत जांच पड़ताल की।