अमर भारती  : बृहस्पतिवार को राजधानी दिल्ली में पड़ी हल्की बारिश के कारण एक बार फिर हवा का हाल बुरा हो गया है। बीते एक दिन में वायु गुणवत्ता सूचकांक 100 अंकों की बढ़त के साथ सबसे खराब स्तर पर पहुंच गया है। एनसीआर के शहरों की हवा की गुणवत्ता भी काफी खराब रही। इस बीच अकेले दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक 309 तक पहुंच गया।

दरअसल मौसम विभाग के अनुसार शाम 5:30 बजे तक सिर्फ .8 मिमी बारिश रिकार्ड हुई। 3.4 मिमी के साथ आंकड़ा सबसे ज्यादा पालम का रहा। मौसम विभाग के कुलदीप श्रीवास्तव बताते हैं कि हल्की बारिश होने से हवा की गुणवत्ता खराब हुई है। जबकि तेज बारिश के चलते वातावरण एकदम साफ दिखाई पड़ रहा है।

तो वहीं दूसरी तरफ सफर का यह कहना है कि हल्की बारिश ने हवा में मौजूद धूल कणों को खत्म कर दिया है। पीएम10 या इससे ज्यादा मोटाई के धूल कणों के पीएम 2.5 में टूटने से प्रदूषण स्तर में बढ़ोतरी हुई है। जिससे कि हवा की दिशा बदलने में काफी मदद मिलेगी।

अब अगर बृहस्पतिवार को भी पराली का धुआं दिल्ली पहुंचता तो हालात बदतर हो सकते थे। लेकिन दक्षिणी पूर्वी व पूर्वी हवाओं से पराली के धुएं का दिल्ली के प्रदूषण में हिस्सा सिर्फ दो फीसदी रिकार्ड किया गया। हालांकि बीते 24 घंटों में दिल्ली के बाहर पराली जलाने के तीन हजार से अधिक मामले सामने आए है।