अमर भारती : देश से फरार हीरा कारोबारी और पीएनबी बैंक घोटाले में मुख्य आरोपी नीरव मोदी ने लंदन की जेल में जारी नजरबंदी के खिलाफ फिर से जमानत अर्जी दाखिल की है। इससे पहले भी उसकी जमानत अर्जी को कई बार खारिज किया जा चुका है।

बता दें कि 48 वर्षीय नीरव मोदी प्रत्यर्पण के खिलाफ लड़ाई लड़ रहा है। इस बार उसकी जामनत अर्जी में चिंता और अवसाद देखा जा रहा है। इसी साल मार्च में प्रत्यर्पण वारंट जारी होने के बाद से नीरव की जमानत को लेकर यह पांचवी कोशिश है।

अदालत के अधिकारी ने बताया कि जमानत के लिए नीरव के इस नए आवेदन की सुनवाई 6 नवंबर को वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में होगी। आवश्यकता होने पर नीरव को वीडियो कांफ्रेंसिंग या स्वयं सुनवाई के लिए वहां मौजूद रहना पड़ेगा।

गौरतलब है कि नीरव की कानूनी टीम ने पहले भी लंदन की सबसे भीड़भाड़ वाली जेलों में गंभीर परिस्थितियों को देखा है और जमानत के सभी प्रयासों कर के देख चुके है। अब सबको अदालत की कार्यवाही के दौरान होने वाले फैसले का इंतेजार करना होगा।