अमर भारती : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को सभी जिलों के लिए ‘कन्या सुमंगला योजना’ की शुरुआत कर दी है। धनतेरस के अवसर पर उन्होंने बालिकाओं को लिए 1200 करोड़ रुपये की इस योजना की शुरूआत की। इससे हर जिले की करीब 500 बालिकाओं को इसका लाभ मिलेगा। इसके साथ ही हर परिवार से अधिकतम दो बेटियों को इस योजना का लाभ मिल सकता है।महिला कल्याण विभाग की ओर से लोकभवन में आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री ने योजना व पोर्टल को लॉन्च किया। कुछ लाभार्थियों के खाते में ऑनलाइन प्रोत्साहन राशि भी भेजी गई और सीएम ने लाभार्थियों को पंजीकरण प्रमाण पत्र भी सौंपें। कन्या भ्रूण हत्या जैसी कुप्रथा को समाप्त करने और परिवार नियोजन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से इस योजना की शुरुआत की गई है। योजना में लाभार्थियों को बेटी के जन्म लेने से लेकर उसके स्नातक पास होने तक सरकार प्रोत्साहन स्वरूप छह चरणों में कुल 15 हजार रुपये की राशि प्रदान करेगी।

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने  समारोह में बोलते हुए कहा कि मैं मुख्यमंत्री को बधाई देती मुख्यमंत्री का एक सार्थक पहल है आज से दीपावली का पर्व शुरू हो रहा है..आज धनतेरस है और इस दिन बड़े लक्ष्य की शुरुआत हो रही है जन्म से लेकर स्नातक तक 15000 देने की योजना बहुत ही सफल साबित होगी बालिका के जन्म के प्रति जो समाज में समान विकास और स्तर का भाव प्रकट करना भी इस योजना के द्वारा सफल हो सकेगा। आज महिलाएं देश के तमाम बड़े उच्च पदों पर समान रूप से कार्य कर रही हैं। स्मृति ईरानी, केंद्रीय मंत्री…..महिला एवं बाल विकास ने कहा यूपी के सीएम का विशेष धन्यवाद इस कार्यक्रम के लिए धनतेरस के त्योहार पर इस ढंग से देश के किसी राज्य में नहीं मनाया गया होगा।यूपी की प्रगति में राज्य की बेटियां अहम भूमिका निभाएंगी। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की शुरुआत की गई, 880 से 918 लिंगानुपात पहुँचा है, सरकार ने बढ़िया काम किया है। यूपी की बेटी को सुरक्षित रखने के लिए सीएम प्रतिबद्ध है, 560 जगह पर one stop centre है। 1 लाख से ज्यादा महिलाओं की सहायता की है। दोनों सरकार ने पीएम मातृ वंदना योजना से 7 लाख माताओं को मुआवजा मिला। इससे महिलाओं को बहुत शक्ति मिलती है। इस योजना से बेटी के जन्म को उत्शाहपूर्वक मनाया जाएगा। यूपी का भाग्य है, जिन्हें ऐसी राज्यपाल मिली है जिन्होंने बच्चों का हाथ पकड़ कर स्कूल भेज है। सरस्वती को ग्रहण करते हुए लक्ष्मी की व्यवस्था आपने की है, ये बहुत बढ़िया काम है। ये एक बेटी के जीवन मे आंदोलन से कम नही होगा।

 

इसके साथ ही कार्यक्रम को संबोधित करते हुए  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने योजना के पोर्टल कभी शुभारंभ किया वहीं उन्होंने इस दौरान कहा कि आज कन्या सुमंगला योजना का शुभारंभ हुआ है । धनतेरस के अवसर पर लक्ष्मी स्वरूपा सभी बेटियों व महिलाओं को बधाई देता हूं। यह योजना प्रधानमंत्री जी के द्वारा शुरू की गई थी, जिससे महिला सशक्तिकरण होगा। पहले प्रदेश पर कलंक था कि यहाँ भ्रूण हत्या होती है । पर हमने सरकार में आते ही महिलाओं के लिए काम किया । आज महिलाओं के लिए सुरक्षा का एक बड़ा माहौल दिया गया है। महिला हेल्पलाइन भी इसमें एक बड़ा कदम है ।5 वर्ष के अंदर 3 दर्जन से अधिक महिला सशक्तिकरण की योजनायें चलाई गई है। प्रदेश में योजनाओ को औऱ मजबूत रूप से चलाए जाने को लेकर आज मुख्यमंत्री सुमंगला योजना शुरू की गई है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि घर मे दिया जा रहा इज्ज़त घर  सिलिंडर कनेक्शन महिलाओं के नाम  पर दिए जाने को लेकर जो फैसला हुआ , उसने पूरे देश मे महिलाओं को मजबूत किया है ।तीन तलाख की कुप्रथा को भी हमने समाप्त किया है। आज की तिथि हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। सरकार में आते ही बच्चियों के लिए हमने स्कूल में व्यवस्था मजबूत की ।

स्कूल चलो अभियान के तहत हमने बड़े स्तर पर काम किया। जिसके तहत हमारी सरकार ने यूनिफार्म , जूते , स्वेटर के लिए भी हमने बेसिक शिक्षा के स्कूलों में बड़े स्तर पर काम किया है । इसके साथ ही यूपी के तमाम अन्य जिलों में भी इस कार्यक्रम का  शुभारंभ किया गया। जिलों में होने वाले कार्यक्रमों में प्रभारी मंत्री के अलावा सांसद, विधायक, महापौर, जिला पंचायत अध्यक्ष और नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों के अध्यक्षों समेत अन्य जनप्रतिनिधियों को भी बुलाया गया। योजना के ऑनलाइन पोर्टल पर अब तक 2.82 लाख आवेदकों ने पंजीकरण हो चुका है और 1.45 लाख आवेदकों का ऑनलाइन फॉर्म जमा हो चुके हैं। वहीं अमेंठी में एक दिवसीय दौरे पर पहुंचे प्रभारी मंत्री मोहसिन रजा ने कन्या सुमंगला योजना का जिले में शुभारंभ किया। इस दौरान जिलाधिकारी प्रशांत शर्मा व प्रभारी मंत्री द्वारा पात्र लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित किए गए।