अमर भारती : फर्रुखाबाद जिले के नोडल अधिकारी और जोंन के एडीजी प्रेम प्रकाश नें महिलाओं के मामले के धीमी जाँच करने वाले जाँच अधिकारीयों पर अपनी नजरें लगा दी है । उन्होंने पुलिस अधीक्षक को सख्त निर्देश दिये है कि वह बैठक बुलाकर इस तरह के मामलों की समीक्षा करें। पुलिस लाइन सभागार में पत्रकारों को एडीजी नें बताया कि मोहम्मदाबाद के मदनपुर चौकी क्षेत्र में जिले की सीमा पर सीसीटीवी कैमरे लगेंगे। इसके साथ ही पुलिस कर्मीयों को बड़े कैमरे दिये जायेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा जिन पुलिस कर्मियों के तबादले होनें के बाद भी उन्हें रिलीव नहीं किया गया है उनको जल्द रिलीव भी किया जायेगा।

एडीजी नें कहा जो पुलिस कर्मी भ्रष्टाचार में लिप्त पायें जायेंगे। उन पर कार्यवाही से पहले उन्हें रंगे हाथों पकड़ा जायेगा। इसकी व्यवस्था की जा रही है। एडीजी नें कहा कि बालिकाओं और युवतियों के मामले में उनकी बरामदगी में देरी जाँच अधिकारी को भारी पड़ेगी। यदि समय अधिक लगा तो कार्यवाही भी की जायेगी। उन्होंने कहा जिले में आईओ कम है। उनको बढ़ाने की व्यवस्था की जा रही है। शहर कोतवाल देवेन्द्र दुबे के खिलाफ जाँच आने पर कार्यवाही होनें की सम्भवना बढ़ गयी है। एडीजी नें कहा कि अभी तक जाँच रिपोर्ट नही आयी है। जाँच रिपोर्ट आने पर उसके आधार पर कार्यवाही की जायेगी।

एडीजी से शहर कोतवाली क्षेत्र के घोडा नखास चौकी इंचार्ज भानु प्रकाश,शहर कोतवाली के जीप चालक दया निधि अग्निहोत्री के खिलाफ भ्रष्टाचार में लिप्त होंने की शिकायत व्यापारियों नें की थी। जिस पर एडीजी नें एसपी से जाँच कर जल्द कार्यवाही करने के निर्देश दिये है। एडीजी नें बताया कि जिन पुलिस कर्मियों के खिलाफ शिकायत मिली थी। उनके कार्यवाही के निर्देश दिये गये है।