अमर भारती : जम्मू-कश्मीर में किसी तरह की गड़बड़ी कर पाने में विफल आतंकी संगठन दिल्ली में गड़बड़ी कर सकते हैं। खुफिया सूचनाओं में इस तरह की आशंका के बाद दिल्ली में इस बार इस तरह सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं ताकि हरेक गतिविधि पर बहुस्तरीय निगरानी रखी जा सके। वेस्टर्न रेंज की ज्वांयट सीपी शालिनी सिंह के मुताबिक किसी भी तरह की गड़बड़ी ना हो इसके लिए हरेक स्तर पर सावधानी बरती जा रही है।

दक्षिणी परिक्षेत्र के संयुक्त पुलिस उपायुक्त देवेश श्रीवास्तव ने अमर भारती से कहा कि दिवाली के अवसर पर सुरक्षा के हर पहलू को ध्यान में रखकर क़दम उठाय गए है । हर व्यस्त जगहों पर कई तरह से निगरानी की जा रही है।

दिल्ली पुलिस के बहुस्तरीय निगरानी का पहला कदम इंटीग्रेटेड पिकेट है। त्योहारों के मद्देनजर नियमित रूप से इंटीग्रेटेड पिकेट के जरिए निगरानी की जा रही है। गौरतलब है कि दिल्ली में इंटीग्रेटेड पिकेट सुरक्षा सिस्टम को दिल्ली के वर्तमान सीपी अमूल्य पटनायक ने शुरू किया था। इसके तहत शहर के विभिन्न इलाकों में औचक तरीके से पिकेट लगाई जाती है। पिकेट के साथ स्थानीय पुलिस के अलावा पीसीआर औऱ यातायात पुलिस के लोग भी होते हैं।

इस तरह की पिकेट निगरानी पर केंद्रीय स्तर पर नजर रखी जाती है। सुरक्षा का एक स्तर लोगों को जागरूक करना भी है। द्वारका जिला पुलिस उपायुक्त आंटो अल्फांश के मुताबिक पर्यावरण और प्रदूषण के मद्देनजर सभी स्कूली छात्रों को जागरूक किया जा रहा है। इसके लिए विभिन्न स्कूलों में वरिष्ठ अधिकारी खुद छात्र छात्राओं की बैठक कर उन्हें विभिन्न पहलुओं से अवगत करा रहे हैं।

 

वेस्टर्न रेंज संयुक्त आयुक्त शालिनी सिंह के मुताबिक पुलिस सबकी है। इस थीम का इस बार खास ख्याल रखा गया है। इसके तहत तमाम दूर-दराज के बाजारों में भी उतने ही सख्त सुरक्षा प्रबंध और उन पर निगरानी की व्यवस्था की गई है। जितना कि वीआईपी इलाकों में होता है। यहां तक की कूड़ा बीनने वाले बच्चों को भी बताया जा रहा है कि संदिग्ध वस्तु मिलते ही उन्हें क्या और कैसे करना है।

सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस की प्रहरी योजना के तहत सुरक्षा गार्ड को वृहद स्तर पर बताया जा रहा है कि जांच के अलावा किन किन चीजों का खास ध्यान रखा जाना है। आउटर जिला पुलिस अतिरिक्त उपायुक्त आर एस सागर के मुताबिक पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की निगरानी में ज्वालाहेड़ी जैसे बाजारों में लगातार गश्त कर सुरक्षा प्रबंधों का जाएजा लिया जा रहा है।

पश्चिमी दिल्ली पुलिस उपायुक्त दीपक पुरोहित के मुताबिक मॉल और सिनेमा हॉल्स में खुद एसीपी स्तर के पुलिस अफसर सुरक्षा प्रबंधों की जांच कर रहे हैं।