अमर भारती : मंगलवार को योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में युवा पीढ़ी का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि मुझे कहते हुए बड़ी खुशी हो रही है कि सबसे अधिक युवा उत्तर प्रदेश में है। अगर युवा पीढ़ी ठान ले तो उत्तर प्रदेश सर्वोत्तम प्रदेश बन सकता है। यह बात उन्होंने कालीचरण पीजी कॉलेज के नवनिर्मित शताब्दी विस्तार भवन के लोकार्पण समारोह में कही। इस दौरान मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन, उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा, सहित कई अन्य मंत्री मौजूद थे।

सीएम ने युवाओं से कहा कि महाविद्यालय एक अच्छी दिशा में जा रहा है। हम जानते है कि भारत मे ज्ञान की परंपरा के आदान प्रदान पर विश्वास करती है। ज्ञान व अच्छे विचार प्राप्त करने में तत्पर रहना पड़ेगा। एक योग्य नागरिक के रूप में हमारा दायित्व है। सीएम ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में नित नए प्रयोग किये जा रहे है। यूपी सरकार के काम का असर देखने को मिल रहा है। दवा कड़वी होती है लेकिन लाभकारी होती है। शिक्षा की गुणवत्ता में सुधारने का प्रयास किया गया है। हम सभी को देखना होगा कि युवा ऊर्जा का उपयोग राष्ट्र और समाज निर्माण में हो।उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया का रचनात्मक उपयोग किया जाए, इसका दुरुपयोग नुकसान पहुंचा सकता हैं। सोशल मीडिया में भ्रामक सूचना भी आती है, जिसका नियंत्रण नही होता वह भस्मासुर बन जाता है। इसलिए सोशल मीडिया का उपयोग नियंत्रित करें।

वहीं मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन ने कहा कि आप सभी छात्रों और शिक्षकों को इतनी प्रसन्नता होगी कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 100 साल से ज्यादा पुराने कॉलेज में आये हैं। मैं किसी न किसी रूप में इस कॉलेज से जुड़ा रहा हूं। लखनऊ में कालीचरण जी ने निजी संपत्ति दान कर कॉलेज की स्थापना की थी। राज्य पाल ने कहा कि 1896 में जब स्कूल ही नहीं होते थे तब पीजी कॉलेज की स्थापना का विचार किया था। आज इस कॉलेज से निकले बच्चों ने अलग अलग क्षेत्रों में अपना नाम हासिल किया था। कालीचरण जी ने उस समय ही रोजगार परक शिक्षा की योजना बनाई थी।