अमर भारती : गोरखपुर एक तरफ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा खुद स्वास्थ्य और शिक्षा को लेकर कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे है।और इस दिशा मे करोड़ों का बजट संबंधित विभाग को दिया जा रहा है लेकिन वही आज मुख्यमंत्री के गृह जनपद गोरखपुर से एक इंसानियत और मानवता को शर्मसार करने वाला चेहरा सामने आया कैंट थाना अंतर्गत जटेपुर चौकी क्षेत्र के चेतना तिराहे के पास एक अज्ञात युवक मरणासन्न पड़ा हुआ था किसी के द्वारा इसकी सूचना पुलिस को मिली तो मौके पर पहुंचे दो सिपाहियों ने 108 नंबर पर कॉल करके एम्बुलेंस बुलाने का प्रयास किया लेकिन रिस्पांस नही मिलने पर कई गाड़ियों को रुकवाने का भी प्रयास किया गया।लेकिन किसी गाड़ी के नही रुकने पर थकहार कर दोनों कांस्टेबल ने ठेले वाले को बुलाकर अपने हाथों से खुद उस अज्ञात युवक को लादकर जिला चिकित्सालय ले गए।और उसको भर्ती करवाया।

मौके पर जिला चिकित्सालय में मौजूद दोनों कांस्टेबलों ने बताया कि हमने एंबुलेंस से लेकर कई गाड़ियों को रुकवाने का प्रयास किया लेकिन जब किसी गाड़ी वाले ने गाड़ी नहीं रोका तो थक हार कर हम लोगों ने खुद ठेले वाले को बुलाकर उस युवक को लादकर चिकित्सालय ले ताकि उसका इलाज जल्द से जल्द चालू हो सके।इसकी जानकारी मिलते ही क्षेत्राधिकारी कैंट रोहन प्रमोद बोत्रे ने दोनों कांस्टेबलों को अपने कार्यालय में बुलाकर उनसे हाथ मिलाकर उनका हौसला अफजाई किया साथ ही उनको गुलाब का फूल देकर सम्मानित किया।

इस मौके पर क्षेत्राधिकारी कैंट ने आमलोगों से अपील करते हुए कहा कि कोई भी व्यक्ति घायल अवस्था मे दिखे तो आप उनको बेहिचक अस्पताल पहुचाने में उसकी मदद करे और यह धारणा छोड़ दे कि आपको पुलिसिया कार्यवाही से गुजरना पड़ेगा।पुलिस आप से किसी भी तरह का कोई सवाल जवाब नही करेगी।