अमर भारती : हरियाणा में सोमवार को होने वाले चुनाव को देखते हुए दिल्ली पुलिस हाई अलर्ट पर है। पहली बार दिल्ली पुलिस ने बॉर्डर की गतिविधियों पर निगरानी के लिए अत्याधुनिक तकनीक का भी सहारा लिया है। इस तकनीक के सहारे बॉर्डर पर खड़े पुलिसकर्मियों की निगरानी भी हो रही है।

साउथ-वेस्चर्न रेंज की संयुक्त पुलिस उपायुक्त शालिनी सिंह के मुताबिक हरियाणा विधानसभा चुनाव में गड़बड़ी फैलाने के मकसद से कोइ ना घुस पाए इसके लिए जांच अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस अभियान पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की निगरानी रहती है।

द्वारका जिला पुलिस उपायुक्त ऐंटो अल्फोंस के मुताबिक जिला पुलिस ने आधुनिक विजुअल तकनीक का इस्तेमाल किया है। इस तकनीक की मदद से बार्डर पर मौजूद हर पिकेट पर कैमरे लगे हैं। इस कैमरे से लाइव तस्वीरें डीसीपी कार्यालय में पहुंच रही हैं। इसके अलावा डीसीपी खुद अपनी मोबाइल पर बार्डर पर चलने वाली गतिविधियों पर नजर रख सकते हैं। इस तकनीक की वजह से पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी बार्डर की गतिविधियों के साथ साथ वहां तैनात पुलिसकर्मियों पर भी निगरानी रख सकते हैं।

आउटर दिल्ली मे भी इसी तरह की जांच अभियान चलाई जा रही है। जिला पुलिस उपायुक्त आर एस सागर के मुताबिक इस अभियान के दौरान कई गिरफ्तारियां भी की गई हैं।द्वारका और आउटर दिल्ली में चलाए जा रहे अभियान के के तहत पिछले 10 दिनों मे 6 शराब तस्कर गिरफ्तार किए गए हैं। इनके कब्जे से हजारों बोतल बरामद हुए। दूसरी तरफ द्वारका जिला पुलिस ने अभियान के दौरान 1 शराब तस्कर सहित 4 लोग गिरफ्तार किए। इनके कब्जे से देशी तमंचा और शराब की बोतलें बरामद हुईं।   

अकेले आउटर दिल्ली जिला पुलिस ने आधा दर्जन शराब तस्कर गिरफ्तार किए। इनसे हजारों शराब की बोतलें बरामद हुई। द्वारका जिला पुलिस की कार्रवाई में दो वाहन चोर, एक गैरकानूनी हथियार के साथ और एक शराब का तस्कर गिरफ्तार हो चुका है। पिछले दस दिनों में मिली इस कामयाबी के बाद दिल्ली पुलिस ने और अधिक सतर्कता के साथ बार्डर पर तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने बार्डर पर तैनात पुलिसवालों से बिना जांच किए किसी भी गाड़ी को जाने ना देने की हिदायत दी है।