अमर भारती : कमलेश तिवारी हत्याकांड को अंजाम देने वाले दो लोगों के नाम का खुलासा हो गया है। इसमें से एक शख्स का नाम फरीदुद्दीन पठान उर्फ मुईनुद्दीन शेख है। जबकि दूसरे शख्स का नाम अशफाक शेख है। हत्या के सीसीटीवी फुटेज में जो दो लोग दिख रहे हैं ये वही हैं। इन्हीं ने सूरत में मिठाई और चाकू खरीदी थी और हत्या को अंजाम देने के लिए यूपी गए थे। इन लोगों से पूछताछ में पता चला है कि 2015 में पैगबंर मोहम्मद को लेकर कमलेश तिवारी ने जो टिप्पणी की थी, उस बयान से उनकी भावनाएं आहत हुई थी।

गुजरात ATS ने इस मामले में जिन तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। उनके नाम है शमीम पठान, फैजान पठान और मोहसिन शेख। मोहसिन शेख पेशे से मौलवी है। गुजरात के सूरत के एक दुकान से मिठाई खरीद रहे संदिग्धों की तस्वीर सामने आई है। इस तस्वीर में दुकान के काउंटर पर दो युवक एक साथ दिख रहे हैं। एक युवक ने नीली रंग की शर्ट पहन रखी है, तो दूसरे युवक ने ग्रे कलर की टी शर्ट पहन रखी है।

इस मामले में लखनऊ से जानकारी है कि यूपी पुलिस ने गुजरात एटीएस के साथ खुफिया जानकारियां शेयर की है। गुजरात एटीएस के साथ यूपी पुलिस संपर्क में है। यहा से सभी इनपुट शेयर किए गए हैं. सूत्रों के मुताबिक पुलिस इसमें स्थानीय लोगों का भी इंवॉल्वमेंट देख रही है, घटनास्थल के नजदीक मिले CCTV तस्वीरों में दो पुरुष और एक महिला दिख रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक हो सकता है कि हमलावरों को कमलेश तिवारी के घर तक ले जाने और अपराध अंजाम देने के बाद उन्हें भागने में मदद करने में स्थानीय लोगों की मदद ली गई हो।

रिपोर्ट- यशपाल कसाना