अमर भारती : मैनपुरी जिला प्रशासन के हाँथ एक बड़ी कामयाबी लगी है। मुखबिर की सूचना पर डीएम और एसपी मैनपुरी ने करहल मार्ग पर कृषि विभाग की टीम के साथ नकली खाद बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है।जिला प्रशाषन ने भारी मात्रा में नकली खाद की बोरियां और केमिकल और उपकरण भी बरामद किये है। आज जिलाधिकारी मैनपुरी प्रमोद कुमार उपाध्याय और एसपी मैनपुरी अजय शंकर रॉय के साथ बड़ी संख्या में जिले के आलाधिकारियों की गाड़ियां जब मैनपुरी करहल मार्ग पर पहुंचे तो यहां पूरे इलाके में  हड़कम्प मच गया जिले के जिले के आधिकारियों को यहां एक अवैध नकली खाद और बीज की फैक्ट्री की सूचना मिली थी।

इस सूचना पर जिलाधिकारी पी के उपाध्याय व पुलिस अधीक्षक अजय शंकर राय ने कृषि अधिकारी और क्रषि विभाग की टीम समेत भारी पुलिस बल के साथ अवैध रूप से संचालित फैक्टरी पर छापा मार कार्रवाई की,अधिकारियों ने कृषि विभाग की टीम के साथ फैक्ट्री में घुसकर छापेमारी की,छापेमारी के दौरान भारी मात्रा में नकली बीज, खाद और केमिकल को बरामद किया। जिला प्रशासन अब यह पता लगाने का प्रयास कर रहा है, कि आखिर इस गोरखधंधे का संचालन कौन कर रहा है। पुलिस ने और कृषि विभाग की टीम ने नकली खाद बनाने वाली सभी सामग्री को कब्जे में ले लिया है। कृषि विभाग की टीम मामले की जांच में जुट गई है वहीं ये फैक्ट्री किसकी थी लेकिन ये फैक्टरी इंटरलॉकिंग फैक्टरी की आड़ में चल रही थी।

सूत्रों की मानें तो ये इण्टरलॉकिंग ईंट की फैक्टरी सत्तधारी पार्टी बीजेपी के पूर्व विधायक की थी और उन्हीं के संरक्षण में ये पूरा गोरखधन्धा चल रहा था पुलिस ने मौके से 4 लोगों को पूंछतांक्ष के लिए अपनी हिरासत में लिया है

वही इस मामले में जिलाधिकारी प्रमोद कुमार उपाध्याय ने बताया है कि फोन पर नकली खाद बनाए जाने की सूचना मिली थी। जहां एक ट्रक पकड़ा गया है जिसमें करीब 42 टन पत्थर का चूरा पकड़ा गया है। जिसमें फ़र्ज़ी पैकेट मिले है जिसका कोई लाइसेन्स भी नहीं है छापेमारी के दौरान भारी मात्रा में सामग्री मिली है। यहां पर पूरी तरह से फ़र्ज़ी कारोबार चल रहा था अभी 2 दिन पहले ही इसकी जानकारी मिली थी जिसके बाद आज ये कार्यवाही की गयी ही कृषि विभाग की टीम और कृषि अधिकारी द्वारा जांच कराई जा रही है। ये जिस पर संचालित की जा रही थी। उसकी भी जानकारी की जा रही है वहीं किन किन लोगों की संलिप्तता इसमें है इसमें भी पूरी जांच की जा रही है।