अमर भारती : दुनिया की सबसे बड़ी कच्चे तेल की कंपनी सऊदी अरामको के दो तेल संयंत्रों पर शनिवार को ड्रोन से हमला किया गया है। आधिकारिक सऊदी प्रेस एजेंसी ने बताया कि सुबह चार बजे अरामको के औद्योगिक सुरक्षा दलों ने अब्कैक और खुरैस में अपने संयंत्रों में ड्रोन हमले के कारण लगी आग से निपटना शुरू कर दिया है।

खबरों से मिली जानकारी के अनुसार संयंत्रों में आग पर काबू पा लिया गया है। बयान में कहा गया है कि राज्य के पूर्वी प्रांत में हमले के बाद जांच शुरू की गई है, लेकिन अभी तक ड्रोन के स्रोत का पता नहीं चला है। पिछले महीने, यमन के हूती विद्रोहियों द्वारा किए गए एक हमले से अरामको के शायबा प्राकृतिक गैस द्रवीकरण सुविधा में आग लग गई थी, लेकिन कंपनी द्वारा किसी भी हताहत की सूचना नहीं दी गई थी।हाल के महीनों में, हूती विद्रोहियों ने सऊदी हवाई ठिकानों और अन्य सुविधाओं को निशाना बनाते हुए सीमापार मिसाइल और ड्रोन हमलों से हमला शुरू किया। जिसके लिए कहा गया कि यह हमले यमन के विद्रोही-कब्जे वाले क्षेत्रों पर सऊदी के नेतृत्व द्वारा हवाई युद्ध करने के खिलाफ किया जा रहा है।

लेकिन अरामको पर हुए हमले के लिए अभी तक विद्रोहियों की ओर से कोई जिम्मेदारी नहीं ली गई है। बता दें कि सऊदी अरामको सऊदी अरब की राष्ट्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस कंपनी है।