अमर भारती : राजधानी दिल्ली के शहादरा इलाके उस वक्त हडकम्प मच गया।जब एक वयक्ति ने दिल्ली के फर्श बाजार थाना इलाके में देसी असलहे से खुद को मंगलवार की रात करीब 9 बजे गोली मार ली। गोली की आवाज सुन आस-पास के लोगों में दहशत का महौल छा गया। जिसके बाद थाने में एक लड़की ने फोन किया और कहा कि उसके पिता ने खुद को गोली मार ली है।

सूचना पाकर मौके पर पहुंची फर्श बाजार थाने की पुलिस ने देखा कि कमरे में 60 साल के एक शख्स की लाश खून से लथपथ पड़ी थी। पास में ही एक देसी तंमचा पड़ा हुआ था। घर में उस वक्त मृतक की दो बेटियां, और दो बेटे मौजूद थे। पुलिस की मानें तो पूछताछ में पता लगा कि मृतक ने आत्महत्या करने से पहले अपनी छोटी बेटी के साथ बात कर रहा था इस दौरान दोनों के बीच नोक-झोंक भी हुई।फिर वह घर से बाहर गया और वापस आकर अपने सीने में गोली मार ली। जिसके चलते उपरोक्त वयक्ति मौके पर ही मौत हो गई।

सूत्रों की मानें तो पता लगा कि मृतक की छोटी बेटी के एक लड़की के साथ समलैंगिक रिश्ते थे और वो उसी लड़की के साथ रहना चाहती थी।जिसके बाद उसने अपने बाल छोटे करा लिए थे और लड़कों की तरह व्यवहार करने लगी थी। जब ये बात घरवालों को पता लगी तो पिता ने इसका विरोध किया। पिता ने बेटी को काफी समझाया लेकिन लड़की ने रिश्ता तोड़ने से साफ इनकार कर दिया था।

स्थानीय लोगो की मानें तो कुछ समय पहले मृतक की लड़की अपना घर छोड़कर दोस्त के साथ रहने के लिए पंजाब चली गई थी। लेकिन उसके पिता ने उसे ढूंढ निकला और अपनी बेटी के साथ उसकी दोस्त को भी अपने  घर लेकर आ गए थे।

पुलिस की मानें तो वारदात वाले दिन यानी 10 सितंबर को बेटी ने अपने पिता से कहा था कि वो अपनी दोस्त के साथ अलग रहना चाहती है। जिसको लेकर दोनों के बीच कॉफी बहस भी हुई थी और फिर नाराज पिता ने गुस्से में अपनी जान दे दी। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है और यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि उसके पास देसी तमंचा कहां से आया।

 रिपोर्ट- शिवनन्दन सिंह