अमर भारती : सोशल मीडिया में युवक को पुलिस कर्मियों द्वारा पीटे जाने की घटना के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा है। सुबह हुई घटना के बाद शाम तक मुख्यालय ने नया सर्कुलर भी जारी कर दिया। सिद्धार्थ नगर की घटना के बाद यूपी पुलिस के मुखिया डीजीपी ओपी सिंह ने वाहन चेकिंग के दौरान संयमित व्यवहार किए जाने का नया सर्कुलर जारी कर दिया है।

आपको बता दें कि सोशल मीडिया में सिद्धार्थनगर में सकरापार चौकी पर तैनात सब इंस्पेक्टर वीरेंद्र मिश्रा व कांस्टेबल महेंद्र प्रसाद द्वारा पीड़ित प्रियांशु की सरेराह सड़क पर पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है, जिसके बाद आनन-फानन में दोनों पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

वहीं इनके खिलाफ थाने में मुकदमा लिखाए जाने के भी निर्देश एसएसपी सिद्धार्थनगर को दे दिए गए हैं। यूपी पुलिस के आईजी लॉ एंड ऑर्डर प्रवीण कुमार ने बताया कि पूरा वाकया कुछ इस तरह से है जिसमें जनपद सिद्धार्थनगर में एक टेलीफोनिक सूचना पर चौकी इंचार्ज और आरक्षी वहां गए थे। वहां पहुंचने पर पुलिसकर्मियों द्वारा जो अमानवीय व्यवहार किया गया,  उसको डीजीपी मुख्यालय द्वारा गम्भीरता से लिया गया है।

इसमें मुख्यालय से निर्देश दिए गए हैं कि जिन पुलिसकर्मियों ने कानून हाथ मे लेने की कोशिश की है उसपर सख्त कार्रवाई हो। इसीलिए उनको निलम्बित कर मुकदमा पंजिकृत किया गया है।

हालांकि आईजी लॉ एंड ऑर्डर प्रवीण कुमार ने कहा कि ये प्रकरण वाहन चेकिंग से सम्बंधित नहीं था। परंतु आए दिन हो रही चेकिंग के दौरान यूपी पुलिस द्वारा आम जनता से की जा रही बदसलूकी पर ही  मुख्यालय सख्त हुआ है। नई गाइडलाइन में यह निर्देश दिए गए हैं कि हमारा व्यवहार सही रहे,  इसके लिए दोपहिया, चारपहिया वाहन की चेकिंग को लेकर सिर्फ कागज चेकिंग ही न की जाए बल्कि बड़ी एसयूवी गाड़ियों की भी चेकिंग की जाए।

बाइट: प्रवीण कुमार, आईजी लॉ एंड ऑर्डर यूपी पुलिस