अमर भारती : उन्नाव दुष्कर्म के मामले को लेकर आज एम्स के ट्रॉमा सेंटर में अदालत लगाई गई है जिसमें दुष्कर्म मामले में पीड़िता के बयान दर्ज होंगे। अदालत ने बयान दर्ज कराने के लिए एम्स के जयप्रकाश नारायण एपेक्स ट्रॉमा सेंटर में अस्थायी कोर्ट बनाने के आदेश दिए थे। बीते शुक्रवार को उच्च न्यायालय ने एम्स के ट्रॉमा सेंटर में जाकर पीड़िता का बयान दर्ज करने को मंजूरी दी थी।

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के बयान दर्ज करने के लिए एम्स में बनी अस्थाई अदालत में न्यायाधीश पहुंच चुके हैं।  इसके साथ ही इस अदालत में आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर को भी लाया गया है। तीस हजारी कोर्ट के जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने बीते शनिवार को एम्स के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट को ट्रॉमा सेंटर में उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के बयान दर्ज करने के आदेश दिए। आदेश में कहा गया है कि मामले की सुनवाई खुद न्यायाधीश धर्मेश शर्मा करेंगे। इस दौरान आम लोगों और प्रेस का प्रवेश वर्जित रहेगा। अदालत ने अपने पिछले आदेश में पीड़िता का ख्याल रखने के लिए अनुभवी नर्स को तैनात करने के लिए कहा था। 28 जुलाई को एक सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल होने के बाद पीड़िता को बेहतर इलाज के लिए दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था। दुष्कर्म के इस मामले में भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सेंगर आरोपी हैं। सर्वोच्च अदालत के निर्देश पर पीड़िता को लखनऊ के अस्पताल से एयर एंबुलेंस के जरिए दिल्ली लाया गया था।