अमर भारती: आज वर्लड फोटोग्राफी डे है और यह पूरे देश भर में मनाया जाता है। कहते हैं कि अगर किसी पल को अमर करना हो तो उसे तस्वीरों में कैद कर लो। चूंकि हम लम्हों को कैद नहीं कर सकते। मगर ख्वाहिश होती है कि काश ये किसी किताब के पन्ने की तरह होते, जिन्हें जब चाहा उलट-पलट कर देख लेते। इंसान की इन्हीं इच्छाओं को मूर्त रूप देने के लिए फोटोग्राफी की तकनीक एक वरदान के रूप में सामने आई।

आज तस्वीर कैद करना काफी आसान हो गया है आपको बता दें कि आजहर 2 मिनट में इतने फोटो खींचे जा रहे है जितने 1800 से 1900 के बीच सौ सालों में भी नही खींचे गए।

पर इंसान के पास जब इतने हाईटेक कैमरे नहीं थे, तब भी वह तस्वीरें बनाता था। प्राचीन गुफाओं में उसके बनाए भित्ति चित्र इस बात के गवाह हैं। इनके जरिये वह आने वाली पीढ़ियों के लिए कितनी बेश्कीमती सौगात छोड़ गए हैं। बाद में जब कैमरे का आविष्कार हुआ, तो फोटोग्राफी भी इंसान के लिए अपनी रचनात्मकता को प्रदर्शित करने का जरिया बन गया।  इस दिवस को मनाने के पीछे भी एक कहानी है। दरअसल फ्रांसीसी वैज्ञानिक लुईस जेक्स और मेंडे डाग्युरे ने सबसे पहले सन 1839 में फोटो तत्व की खोज की थी। ब्रिटिश वैज्ञानिक विलियम हेनरी फॉक्सटेल बोट ने निगेटिव-पॉजीटिव प्रोसेस का आविष्कार किया और सन 1834 में टेल बॉट ने लाइट सेंसेटिव पेपर की खोज करके खींची गई फोटो को स्थायी रूप में रखने में मदद की।

फ्रांसीसी वैज्ञानिक आर्गो की फ्रेंच अकादमी ऑफ साइंस के लिए लिखी गई एक रिपोर्ट को तत्कालीन फ्रांस सरकार ने खरीदकर 19 अगस्त 1939 को आम लोगों के लिए फ्री घोषित कर दिया था। इसी उपलब्धि की याद में 19 अगस्त को विश्व फोटोग्राफी दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। 

वैसे देखा जाए तो अंतर्राष्ट्रीय फोटोग्राफी दिवस सभी समुदायों का एक जश्न है जो विश्व भर में लाखों लोगों को जोड़ता है। यह दुनिया में सकारात्मक परिवर्तन लाने की इच्छा रखता है चाहे वह हमारी रोजमर्रा की पसंद में हो या उन संगठनों के द्वारा जिसका हम समर्थन करते हैं। यह केवल एक दिन नहीं है, यह हर दिन कैमरे का एक नरम स्पर्श है, हमारे जीवन में प्रकाश की एक चमक और एक पल है जिस पर हमेशा के लिए कब्जा कर लिया जाता है। आज फोटोग्राफी हमारे जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा बन गई है और यह एक ऐसे उपकरण के रूप में विकसित हुआ है जो हम सभी को जोड़ता है। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन हैं, आप कहां हैं; अंतर्राष्ट्रीय फोटोग्राफी दिवस हमें फोटोग्राफी की संभावना को तलाशने के लिए हमारी आँखें खोलने में मदद करता है और हमें दुनिया को साझा करने में सक्षम बनाता है जैसा हम इसे देखते है।