अमर भारती : भारत के कश्मीर से 370 हटाने की बात पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान हजम नही कर पा रहा है। इस वजह से पाकिस्तान अंतराष्ट्रीय मंच पर जाकर मदद मांगने की कोशिश कर रहा है और उसको हर बार मुह की खानी पड़ रही है। दरअसल सयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अनऔपचारिक बैठक में भी पाकिस्तान को मुह की खानी पड़ी। संयुक्‍त राष्‍ट्र के अंदर जम्‍मू-कश्‍मीर के मुद्दे को उठाकर इस पूरे मामले को अंतरराष्‍ट्रीय रूप देने की चीन और पाकिस्‍तान की नापाक साजिश को भारत ने अपने दमदार तर्कों और सबूतों से खारिज कर दिया।

हालांकि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अनऔपचारिक बैठक में पाकिस्तान को सिर्फ चीन का साथ मिला बाकि सारे देशों ने भारत की सराहना की। बैठक के बाद भारत के स्थाई दूत सैयद अकबरुद्दीन ने अपने तर्को से पाकिस्तान को आइना दिखा दिया। भारत के स्थाई दूत सैयद अकबरुद्दीन ने साफ शब्दों में ये कह दिया की अनुच्छेद 370 भारत का आंतरिक मामला है, और इसका किसी तीसरे से कोई लेना देना नहीं। यानि भारत अनुच्छेद 370 पर किसी भी तीसरे की दखलअंदाजी बिल्कुल पसंद नहीं करेगा। जब तक पाकिस्तान आंतक का साथ नहीं छोड़ेगा तब तक बात चीत का कोई सवाल ही नहीं उठता। भारत के निर्णय से जम्मू-कश्मीर में गुड गवर्नेंस आएगी साथ ही सामाजिक और आर्थिक विकास होगा।

 

.