अमर भारती : राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में यमुना नदी के बढ़ते जल स्तर के चलते अब बाढ़ का खतरा सामने दिखाई दे रहा है। इसकी मुख्य वजह है हथनी कुंड बैराज जहां से कि पानी छोड़े जाने के बाद यमुना का जल स्तर खतरे के निशान पर पहुंच गया है।

बताया जा रहा है कि दो दिन पहले हथनी कुंड बैराज से एक लाख 43 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। इसके बाद अचानक से जल स्तर में काफी बढ़त देखने को मिली है। पुरानी दिल्ली में लोहे के पुल पर यमुना का जल स्तर गुरुवार को 202.86 मीटर रिकॉर्ड किया गया जो कि एक बड़ी समस्या बनता जा रहा है।

गौरतलब है कि हथनीकुंड बैराज से छोड़े गए पानी के अगले 72 घंटों में दिल्ली पहुंचने की संभावना जताई गई थी। तब दिल्ली पर बाढ़ के खतरे की संभावना कापी हद तक बढ़ सकती है।

सूत्रों के अनुसार प्रशासन ने हरियाणा और दिल्ली को अलर्ट भी भेज दिया है। निचले इलाकों में प्रशासन ने यमुना से दूर रहने की चेतावनी भी जारी कर दी गई है। यमुनानगर के कैचमेंट एरिया में लगातार चल रही बारिश से भी यमुना नदी में उफान आया है।