अमर भारती : इस बार भारत सरकार के द्वारा घोषित किए गए वीरता पदकों में सबसे ज्यादा पदक जम्मू कश्मीर में आतंक रोधी अभियान में आने वाले केंद्रीय सुरक्षा बलों के जवानों को मिले हैं। केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल और राज्य पुलिस बल के जवानों और अधिकारियों के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कुल 946 पदकों की घोषणा की है। इनमें से तीन को बहादुरी के लिए राष्ट्रपति का पुलिस मेडल , जबकि 177 को बहादुरी के लिए पुलिस मेडल सम्मान से नवाजा गया है।

सरकार की तरफ से जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक जम्मू कश्मीर में आतंक रोधी ग्रिड में तैनात जवानों के लिए कुल 114 बहादुरी पदक दिए गए हैं, जबकि वामपंथी उग्रवाद प्रभावित राज्यों में तैनात जवानों को ऐसे 62 पदक दिए गए हैं। पूर्वोत्तर के राज्यों में अभियान के लिए चार सुरक्षा कर्मियों को पदक मिले हैं।

इसमें खास बात यह है कि पिछले साल की तरह इस बार भी केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल को सबसे अधिक 72 पदक दिए गए हैं। इसके बाद जम्मू कश्मीर पुलिस बल को 61, ओडिशा पुलिस को 23, छत्तीसगढ़ के पुलिसकर्मियों के लिए नौ पदक तथा सीमा सुरक्षा बल एवं भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल को दो-दो पदक मिले हैं।

गौरतलब है कि विशिष्ट सेवा के लिए 89 पुलिसकर्मियों को राष्ट्रपति ने पुलिस पदक दिए गए हैं जबकि 677 को सराहनीय सेवा के लिए पदक मिले हैं। कुल 56 कर्मियों को दमकल सेवा पदक और 44 अधिकारियों को होमगार्ड और सिविल डिफेंस की सेवा के लिए पदक दिए गए हैं।