अमर भारती: इस साल रक्षाबंधन गुरुवार यानी 15 अगस्त को मनाया जा रहा है। भाई-बहन के पवित्र प्रेम के त्‍योहार रक्षाबंधन पर इस बार बहुत सुंदर संयोग बना है। यह पहला अवसर है जब रक्षाबंधन पर बिना किसी दोष के करीब 12 घंटे तक का शुभ मुहूर्त बनने जा रहा है। इस अवधि में बहनें किसी भी समय अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांध सकेंगी।

यही नहीं , लंबे समय के बाद रक्षाबंधन के दिन भद्रा तिथि का साया नहीं रहेगा। यानी यह त्‍योहार इस बार भद्रा के दोष से मुक्‍त रहेगा। पिछले करीब 20 वर्षों से रक्षाबंधन वाले दिन भद्रा का साया होने के चलते शुभ समय सीमित ही होता था। इस बार यह दोष नहीं होने से करीब 12 घंटे तक रक्षाबंधन का शुभ मुहुर्त होगा। यानि, बहनें अपने भाइयों की कलाइयों पर रक्षासूत्र इस दौरान कभी भी बांध सकेंगी।

आपको बता दें कि देव गुरु बृहस्पति ने देवराज इंद्र की विजय के लिए उसकी पत्नी को रक्षा सूत्र बांधने को प्रेरित किया था। इस बार बृहस्पतिवार को ही रक्षाबंधन होने के कारण इसका महत्व और भी बढ़ गया है। रक्षाबंधन पर इस बार कई शुभ संयोग बन रहे हैं। धार्मिक परंपरा के मुताबिक भद्रा के साए में कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है।

इस बार एक साथ कई शुभ संयोग बनने के कारण रक्षाबंधन पर पूरा दिन शुभ मुहूर्त रहेगा। पर कभी-कभी भाई-बहन के इस त्योहार पर कई बहनें अपने भाईयों को राखी इसलिए नहीं बांध पाती हैं क्योंकि उनके भाई या तो दूसरे शहर में रह रहे होते हैं या फिर किसी वजह से बहन उनसे मुलाकात नहीं कर पाती हैं। पर भाई-बहन का प्यार हमेशा रहता है ।

रिपोर्ट- मौसम नंदन