अमर भारती : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व भारतीय कप्तान और सबसे महान खिलाड़ियों में से एक यानी अनिल कुंबले ने आज एक बयान दिया है जिसमें उन्होने कहा है कि हर किसी के जीवन में हितों का टकराव हो सकता है। कुंबले का यह बयान उस समय आया है, जब भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के लोकपाल डीके जैन ने हितों के टकराव मामले में भारतीय अंडर-19 और इंडिया-ए टीम के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ को नोटिस जारी किया है।

बता दें कि कुंबले के अनुसार हर पेशेवर व्यक्ति के साथ हितों के टकराव हो सकता हैं। आप कैसे उनका सामना करते हैं, आप किस तरह उसमें शामिल होते हैं, यह काफी अहम रहता है। जब लोगों को पता चलता है कि आप किसी भी पेशे में किस तरह से शामिल हैं, तो मुझे नहीं लगता कि किसी तरह के हितों के टकराव का मामला बनता है।

साथ ही पूर्व भारतीय लेग स्पिनर ने इस बात पर चिंता जताई कि हर क्रिकेटर को हितों के टकराव जैसे मामलों का सामना करना पड़ता है। बहुत कम ही ऐसे क्रिकेटर हैं जो भारत के लिए खेले हैं। इसलिए केवल वही इस खेल में योगदान देते हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले कई और खिलाड़ी भी हितों के टकराव पर अपना बयान दे चुके है और ऐसे में यह माना जा रहा है कि इसका खेल पर ज्यादा असर पड़ता दिख रहा है। हालांकि अभी राहुल द्रविड़ को भेजे गए नोटिस के जवाब का इंतजार किया जा रहा है।