अमर भारती : हम सभी लोग खाना खाने के बाद अक्सर कुछ न कुछ मीठा खाते हैं। तो क्यों न मीठे में मिश्री को शामिल किया जाए, स्वाद बढ़ाने के अलावा मिश्री के सेवन करने से शरीर को ऊर्चा भी मिलती है। सौंफ के साथ मिश्री का सेवन करने से मूड अच्छा रहता है।

शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर कम होने से खून की कमी होती है, बिना कुछ किए थकान महसूस होती है, कमजोरी का एहसास होता है, कई लोगों को चक्कर भी आते हैं। अगर इन सभी समस्याओं से गुजर रहे हैं तो नियमित तौर पर मिश्री का सेवन जरूर करें। साथ ही डॉक्टर से सलाह भी जरूर लें। नियमित तौर पर मिश्री का सेवन करने से शरीर में हीमोग्लोबिन का लेवल तो बढ़ता ही है। साथ में रक्त संचार भी सही रहता है।कई लोगों को नाक से खून आने की समस्या होती है। मिश्री का सेवन करने से नाक से खून आना तुरंत बंद हो जाता है। हालांकि यह समस्या गर्मी के मौसम में होती है। मिश्री का सेवन करने से पाचन क्रिया बेहतर होता है। मिश्री में डाइजेस्टिव गुण मौजूद होते हैं, जिससे खाना जल्दी और आसानी से पच जाता है।

सर्दी के मौसम में किसी भी व्यक्ति को कई तरह की बीमारियों का खतरा रहता है, जिसमें खांसी, जुकाम सबसे आम बीमारी है। ठंड में अक्सर लोगों को खांसी-जुकाम की समस्या रहती है। ऐसे में मिश्री के पाउडर में काली मिर्च का पाउडर और घी मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें फिर रात के वक्त इसका सेवन करें। इसके अलावा मिश्री और काली मिर्च के पाउडर का सेवन गुनगने पानी के साथ करेंगे तो भी खांसी से आराम मिलेगा।