अमर भारती : क्रिकेट में कुछ नए नियमों को शामिल करने के लिए आईसीसी अब अपना मन बना रहा है। अब आने वाले समय में क्रिकेट के हर मुकाबले में ये बदला हुआ नियम दिखाई दे सकता है। लंदन में आयोजित सालाना प्रेस कांफ्रेंस में धीमी गति से ओवर डालने पर आईसीसी ने बड़ा बदलाव किया है।

मैच के दौरान धीमी गति से ओवर फेंकने पर अब पूरी टीम को इसकी सजा मिलेगी। धीमी गति से ओवर डालने पर मिलने वाली सजा में बदलाव किया गया है। अब कप्तानों पर सस्पेंड होने का खतरा नहीं होगा, लेकिन धीमी गति से ओवर करने पर आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के दौरान खिलाड़ियों के पॉइंट काटे जाएंगे।

अभी जो नियम था उसके अनुसार, कप्तान पर मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना लगाया जाता था। बाकी पर 10-10 फीसदी जुर्माना लगता था। वहीं लगातार 3 मैचों में ऐसा होने पर कप्तान पर बैन लग जाता था। आईसीसी के नए नियम से कप्तानों को काफी राहत मिलेगी।

आईसीसी ने एक और अहम फैसला लेते हुए नए नियम को लागू को किया है। मैच के दौरान गेंद से चोटिल खिलाड़ी की जगह दूसरा खिलाड़ी ले सकता है। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एशेज सीरीज से इस बदलाव की शुरुआत होगी।
आईसीसी ने बताया कि जैसा खिलाड़ी चोटिल होगा उसका सब्सटीट्यूट भी वैसा ही होना चाहिए, यानी गेंदबाज की जगह गेंदबाज और बल्लेबाज की जगह बल्लेबाज। इस तरह के बदलाव के लिए मैच रैफरी की मंजूरी लेनी जरूरी होगी। यह बदलाव एक अगस्त से लागू होगा और एजबेस्टन में होने वाली पुरुषों के एशेज टेस्ट से इसकी शुरुआत होगी।