अमर भारती : फेसबुक ने एक और भारतीय स्टार्टअप कंपनी मीशो में निवेश किया है। फेसबुक ने निवेश के साथ ही कंपनी में अपने लिए हिस्सेदारी भी खरीद ली है। इससे पहले 2014 में उसने हैदराबाद की लिटिल आई लैब्स को खरीदा था। ऐसा पांच साल में दूसरी बार हो रहा है जबकि फेसबुक ने इस तरीके से किसी भारत की कंपनी में निवेश किया है।

मीशो को दो दोस्तों ने शुरू किया था। मीशो एक भारतीय सोशल ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म है। इसकी स्थापना दिल्ली आईआईटी से स्नातक विदित अत्रे और संजीव बरनवाल ने दिसंबर 2015 में की थी। यह मुख्यतः कारोबारियों को अपना व्यापार ऑनलाइन माध्यम से बढ़ाने में सहायता करती है।

यह छोटे उद्यमियों को व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम आदि जैसे सोशल चैनलों के माध्यम से अपने ऑनलाइन स्टोर शुरू करने में सहायता करता है। मीशो के सहसंस्थापक विदित अत्रे ने बताया कि पिछले चार सालों में मीशो से 15 हजार सप्लायर और 20 लाख रीसेलर जुड़े हैं।

मीशो इससे पहले ही करीब 455 करोड़ रुपये जुटा चुकी है। डीएसटी पार्टनर्स, आरपीएस वेंचर्स, शनवे कैपिटल, सैफ पार्टनर्स, सिक्योइया इंडिया और वाय कॉम्बिनेटर जैसी कंपनियों ने इसमें निवेश कर रखा है।
मीशो को खरीदने के पीछे फेसबुक का सबसे बड़ा कारण यह है कि उससे छोटे शहरों की करीब 80 फीसदी महिलाएं जुड़ी हैं, जिनसे कि सीधे तौर पर जूड़ा जा सकता हैं। फेसबुक इंडिया के वाइस प्रेसिडेंट और एमडी अजित मोहन ने पीटीआई से बातचीत में बताया कि इस निवेश के तीन मुख्य कारण हैं।
पहला कारण हम मीशो के संस्थापकों और इसकी टीम को लेकर काफी उत्साहित हैं। दूसरा कारण यह है कि इसका फोकस देश के टायर-2 और टायर-3 शहरों पर जिससे कि कंपनी को बड़ी पहचान मिल सकती है। तीसरा कारण है महिला उद्यमी।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-