अमर भारती : गोरखपुर में दिव्यांग लड़की के साथ दुष्कर्म करने में जुर्म सिद्ध पाए जाने पर अपर सत्र न्यायाधीश विष्णु प्रसाद अग्रवाल ने झंगहा क्षेत्र के ग्राम डीहघाट निवासी अभियुक्त रमजान को सात साल के कठोर कैद और 10 हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनायी है। कोर्ट में अभियोजन पक्ष की ओर से एडीजीसी रमेश चंद पांडेय एवं सिद्धार्थ सिंह का कथन था कि घटना 29 जनवरी 2017 को हुई।

पीड़िता के साथ अभियुक्त ने दुष्कर्म किया। पीड़िता ने इशारों से अपने परिवार वालों को दुष्कर्म की बात बताई। कोर्ट में अभियुक्त ने जुर्म से इनकार किया और रंजिश में फंसाने की बात कही। न्यायाधीश ने पत्रावली उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर सजा सुनाई।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-