अमर भारती : टीवी जगत में संस्कारी बाबूजी के नाम से मशहूर आलोक नाथ मीटू अभियान के तहत विनता नंदा द्वारा यौन उत्पीड़न के आरोप में पहले से ही घेरे में थे। लेकिन अब वो एक और मुसीबत में फंस चुके हैं। सेक्सुअल हैरसमेंट के कई सारे आरोप झेलने के बाद आलोक नाथ फिल्म इंडस्ट्री से बर्खास्त कर दिए गए हैं।

उन्हें किसी फिल्म में काम नहीं मिल रहा है और उनके साथ कोई भी काम नहीं करना चाह रहा है। बता दें कि अजय देवगन की आगामी फिल्म दे दे प्यार दे में वे नजर आएंगे। इस बात को लेकर कॉन्ट्रोवर्सी बनी हुई है कि जब यौन उत्पीड़न के आरोपों में फंसे साजिद खान, नाना पाटेकर और विकास बहल जैसे कलाकार फिल्में नहीं कर रहे हैं तो फिर आलोक नाथ क्यों?

अब अजय देवगन ने इस बारे में जवाब भी दिया। उन्होंने कहा कि मैं और दे दे प्यार दे की टीम पूरी तरह से मीटू के खिलाफ है। आलोक नाथ के सीन उस समय से पहले ही शूट कर दिए गए थे जब उन पर आरोप लगने शुरू हुए। फिल्म अक्टूबर, 2018 में रिलीज होने वाली थी और उस समय तक मीटू का मामला फिल्म इंडस्ट्री में उबर कर सामने नहीं आया था। ऐसे में आलोक नाथ के साथ काम करना स्वाभाविक था। अब डेट्स को आगे बढ़ाना और आलोक नाथ की जगह किसी और एक्टर्स से सीन को फिर से शूट करवाना फिल्म के लिए लगभग नामुमकिन है।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-