अमर भारती : आज के इस दौर में लोग अपनी जरुरतों को पूरा करने के लिए बैंकों और वित्तीय संस्थानों से लोन ले लेते हैं। और जब बात उसे चुकाने की आती है तो उसे चुका नहीं पाते, और चिंतित हो जाते हैं। आपको बता दें कि हमारी चिंता और तब और ज्यादा बढ़ जाती है जब पैसों की वसूली के लिए गारंटी के तौर पर रखे घर की नीलामी होती है। लेकिन अब इस बात की चिंता करने की जरूरत नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि सरकार लोन के नियमों में बहुत जल्द कुछ बदलाव कर सकती है।

आपको बता दें कि सरकार बहुत जल्द लोन के गारंटर के लिए बड़ा कदम उठा सकती है। नए कानून के अनुसार अगर कोई डिफॉल्टर घोषित किया जाता है तो उसे बैंक या पुलिस की तरफ से किसी प्रकार से तंग नहीं किया जाएगा। बल्कि इज्जत के साथ बाहर निकलने का रास्ता मुहैया कराया जाएगा।

इस नियम के लिए कुछ महीने पहले कमेटी का गठन भी किया गया था। कमेटी ने अपनी सिफारिश मंत्रालय को सौंप दी है। कहा जा रहा है कि नई सरकार के गठन पर इस सिफारिश को नोटिफाई किया जा सकता है। मौजूदा नियमों के अनुसार पैसे की वसूली के लिए गारंटर के घर को नीलाम कर दिया जाता है।

मान लीजिए अगर किसी व्यक्ति ने अपनी बेटी की शादी के लिए लोन लिया है लेकिन वो उसे चुका नहीं पाता है, तो गारंटर से पैसों की वसूली के लिए उसे उसके घर को नहीं बेचा जाएगा। हालांकि अगर वो बहुत बड़े मकान में रह रहा होगा तो ऐसा नहीं होगा। ऐसी स्थिति में उसे इज्जत के साथ रहने के लिए छत मुहैया करा दी जाएगी।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-