अमर भारती : रविवार को उत्तर प्रदेश में छठवें चरण में 16 जिलों के 14 लोकसभा क्षेत्रों में मतदान हुआ। इन चुनाव में आयोग द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार कुल 54.12% मतदान छठवें चरण में हुआ। इस दौरान लगभग ढाई करोड़ से ज्यादा मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। 2014 के मत प्रतिशत से अगर तुलना की जाए तो इस बार मतदान थोड़ा ही कम हुआ। उपरोक्त विषय पर निर्वाचन आयोग द्वारा देर शाम संयुक्त प्रेस वार्ता कर छठवें चरण की विस्तार पूर्वक जानकारी दी गई।

उत्तर प्रदेश के छठवें चरण में16 जिलों के 14 लोकसभा क्षेत्रों में मतदान पूरा हो गया। छठे चरण के मतदान की जानकारी देते मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वर लू ने बताया कि इस चरण की पोलिंग के दौरान खराब हुए वीवीपैट बदले गए। हमने मतदान के दौरान 90 वीवीपैट बदले। इस बार मतदान में कम मशीनें खराब हुई। छठवें चरण के लोकसभा क्षेत्रों में सुल्तानपुर में 54.56% प्रतापगढ़ 53.20% फूलपुर 51.38% इलाहाबाद 50.58% अंबेडकर नगर 58.78% श्रावस्ती 51. 41% डुमरियागंज 5180 प्रतिशत बस्ती 58% संत कबीर नगर 53.30% लालगंज 55 70% आजमगढ़ 56. 20% जोनपुर 54.80% मछली शहर 53.20% और भदोही 54.76% मतदान हुआ। मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वर लू ने कहा कि मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा। अभी तक कहीं पर भी रिपोलिंग की खबर नहीं आ रही है।

और ना ही कहीं से कोई शिकायत मिली है। कई जगह मतदान बहिष्कार किया गया जहां पर क्षेत्र के डीएम एसएसपी मौजूद रहे ग्राम वासियों को समझाया गया लेकिन आजमगढ़ के एक गांव के लोग नहीं माने और वोटिंग नहीं किया पिछले 2014 लोकसभा चुनाव में कुल मतदान प्रतिशत 54.53 रहा वही 2019 में घटकर 54.12% रहा। आईजी लॉ एंड ऑर्डर प्रवीण कुमार ने बताया कि हमने संवेदनशील मतदान केंद्रों में पहले से तैयारी कर रखी थी पैरामिलिट्री फोर्सेस की तैनाती की गई थी। उत्तर प्रदेश पुलिस ने पूरी मुस्तैदी से आम चुनाव में अपनी भागीदारी दी है। उन्होंने बताया कि प्रतापगढ़ से जनसत्ता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया वरिष्ठ कांग्रेसी नेता प्रमोद तिवारी समेत 9 लोगों को इस चुनाव में जिला प्रशासन ने नजरबंद किया था।

रिपोर्ट:विजय त्रिपाठी

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-