अमर भारती: बॉलीवुड के लोकप्रिय और बेहतरीन सिंगर अरिजीत सिंह आज अपना 32 वां जन्मदिन मना रहे। उनका जन्म 1987 को पश्चिम बंगाल में मुर्शिदाबाद जियागंज में हुआ था। साल 2005 में संगीत की दुनिया में कदम रखने वाले अरिजीत ने अपनी आवाज का जादू इस कदर चलाया कि हर कोई उनका फैन हो गया।

आपको बता दे कि अरिजीत के पिता पंजाबी और मां बंगाली हैं। अरिजीत अपनी आवाज के साथ-साथ गिटार, पियानो और तबला भी बजाना जानते हैं। फिलहाल वह म्यूजिक डायरेक्टर, स्कोर कम्पोजर, म्यूजिक प्रोड्यूसर भी हैं। हिंदी के अलावा उन्होंने कई क्षेत्रिय भाषाओं में भी गीत गाए हैं।

साल 2013 में मिर्ची म्यूजिक अवॉर्ड अपने नाम करने वाले अरिजीत ‘फिर ले आया दिल’ (बर्फी) और ‘दुआ’ (शंघाई) जैसे गानों के लिए भी अवॉर्ड जीत चुके हैं।

कौन से साल से चमकी थी अरिजीत की किस्मत

इसके बाद अरिजीत ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और साल 2013 में सुपरहिट फिल्म ‘आशिकी 2’ में उन्होंने ‘तुम ही हो’ और ‘चाहू मै या ना’ ने उन्हें रातोंरात सुपरस्टार बना दिया।

15 साल से भी ज्यादा समय हो गाया गायकी करते हुए

आज अरिजीत को गायकी के क्षेत्र से जुड़े 15 साल से भी ज्यादा का वक्त हो गया है और इस वक्त उनके हिट सॉन्ग की लिस्ट बेहद लंबी हो चली है।  जब एक इवेंट में अरिजीत से पूछा गया कि क्या वह अपने गाने सुनते हैं? इस पर अरिजीत ने जवाब दिया था, ‘मुझे अपने ही गाने सुनकर डर लगता है, उन्होंने कहा कि मेरी पत्नी भी गाने नहीं सुनती।’

अरिजीत को गायकी के क्षेत्र में मौके देने वाले

निर्देशक संजय लीला भंसाली और फिल्म निर्माता रमेश कुमार तौरानी हैं। संजय ने उनकी आवाज को परख फिल्म सांवरिया में सॉन्ग यूं शबनमी गवाया था।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-