अमर भारती : लोकसभा चुनाव का माहौल पूरे देश में है। लेकिन इस माहौल में एक दुसरे पर आरोप प्रत्यारोप भी लगाए जा रहे हैं। कांग्रेस पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संपत्ति को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है। पार्टी ने अपने दावे में पीएम मोदी पर अपने पहले के चुनावी हलफनामों में गुजरात स्थित गांधीनगर के एक भूखंड के संदर्भ में गलत जानकारी देने का आरोप लगाते हुए कहा है कि चुनाव आयोग को इस मामले में कार्रवाई करनी चाहिए।

पार्टी की ओर से मंगलवार दोपहर को प्रेस कांफ्रेंस आयोजित करके कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने आरोप लगाया कि प्लॉट नं. 411 की जगह गांधीनगर में प्लॉट नंबर 401/ए के एक चौथाई हिस्से के मालिक कहा हैं।  उन्होंने कहा है कि जब पता लगाया गया तो प्लॉट नंबर 401/ए जैसी कोई जगह है ही नहीं। Hindi news latest hindi news

प्रेस कांफ्रेस में कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि गुजरात सरकार की नीति के तहत प्लॉट नंबर 401 को वित्त मंत्री अरुण जेटली को आवंटित की गई। उन्होंने आरोप लगाया कि प्लॉट नंबर 401 अन्य भाजपा नेताओं को आवंटित किए गए प्लॉट के बगल में ही स्थित है और ये सभी प्लॉट गांधीनगर के बेहद खास जगह पर मौजूद हैं। उन्होंने आगे कहा कि ये तो पक्का है कि प्ल़ॉट नंबर 411 के मालिक अभी भी नरेंद्र मोदी का है। Hindi news latest hindi news

प्रेस कांफ्रेस में प्रवक्ता पवन खेड़ा ने दावा करते हुए कहा कि मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब उन्हें एक भूखंड आवंटित किया गया था जिसको लेकर उन्होंने 2007 और 2012 के विधानसभा चुनावों और 2014 के लोकसभा चुनाव के अपने हलफनामों में विरोधाभासी जानकारियां दी हैं। Hindi news latest hindi news

खेड़ा ने जानकारी देते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट में इसके लिए एक जनहित याचिका दायर की गई है। इस याचिका में पीएम मोदी  की एक संपत्ति को लेकर कुछ सवाल खड़े किए गए हैं। उन्होंने कहा कि मोदी जी के मुख्यमंत्री बनने के बाद यह संपत्ति आवंटित की गई। 2007 के चुनावी हलफनामे में उन्होंने गांधीनगर के सेक्टर -1 में एक भूखंड होने का उल्लेख किया जिसका क्षेत्रफल उन्होंने 326.22 मीटर बताया। Hindi news latest hindi news

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-