अमर भारती : हमारे देश में लोकसभा का चुनाव हर पांच साल में एक बार होता है और इसे जीतने के लिए नेता कोई कमी नही छोड़ते फिर चाहे वो गलत भाषा के प्रयोग ही क्यो न हो। हाल ही में जिस तरह की भाषा के इस्तेमाल प्रधानमंत्री मोदी और उनकी सरकार के खिलाफ किया है उसे देख लगता है कि सत्ता हासिल करने के लिए कोई किसी भी हद तक जा सकता है।
आपको बता दें कि भाजपा ने इस मामले में चुनाव आयोग से सख्त कार्यवाही की मांग की है। पार्टी के वरिष्ठ नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार झूठा और मनगढ़ंत बयान देकर लोगों को गुमराह करने की साजिश में लगे हुए हैं । जिस तरह के झूठे, बेबुनियाद और भाषा की मर्यादा को तार तार करने वाले बयान कांग्रेस एवं उसके अध्यक्ष की ओर से आ रहे हैं, वह न केवल चुनावी आचार संहिता का उल्लंघन है बल्कि जन प्रतिनिधित्व अधिनियम की धज्जियां उड़ाने वाला है।

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस का झूठ ‘वन वे’ है जबकि भाजपा का सच ‘हाई वे’ है और लोगों के सामने अब कांग्रेस का झूठ बेनकाब हो गया है। नकवी ने यह भी कहा कि जिस तरह की अभद्र भाषा का प्रयोग राहुल गांधी लगातार प्रधानमंत्री मोदी और उनकी सरकार पर कर रहे है उसे देख तो ऐसा लगता है कि मानो कांग्रेस के नेताओं में गाली देने की होड़ मच गई है।
गौरतलब है कि इस बार के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के पास बात करने के लिए कुछ नही है तो इसलिए शायद यही राह उसे आसान लग रही है। इस अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने को लेकर चुनाव आयोग से भाजपा ने शिकायत की और कार्रवाई करने की मांग की है।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-