अमर भारती : पुलिस उच्चाधिकारियों के निर्देशन में उपनिरीक्षक सुरजीतसिंह व उनके साथियों को शानदार सफलता मिली है। पुलिस की ये कार्रवाई अपराधियों की चुनाव के मद्देनजर जिले को दहलाने की साजिश असफल करती हुई दिखाई पड़ रही है। औरैया 12 अप्रैल, जनपद के अजीतमल थाना क्षेत्र के अंतर्गत पुलिस व स्वाट टीम ने अवैध शस्त्र कारखाने का भंडाफोड़ करते हुए भारी मात्रा में बने व अधबने शस्त्र बरामद किए है।

पुलिस अधीक्षक हरिश चन्दर ने जानकारी दी कि विगत दिवस अजीतमल थाने के उपनिरीक्षक सुरजीत सिंह पाल साथी उपनिरीक्षक राजेश सिंह, भगीरथ सिंह, आरक्षी बलवान सिंह, सुनील कुमार गश्त पर जा रहे थे, तभी मुखबिर ने सूचना दी कि पुराना मलगवां गौशाला के पास स्थित खंडहर नुमा मकान में बड़ी अवैध शस्त्र कारखाना संचालित किया जा रहा है। जहां से जनपद के विभिन्न स्थानों में असलहे बेचे जाते हैं। इस अजीतमल थाने के उपनिरीक्षक सुरजीत सिंह पाल ने साथी उपनिरीक्षक राजेश सिंह,भगीरथ सिंह,हमराहियों व स्वाट टीम के उपनिरीक्षक तारिक खान,जितेंद्र सिंह,गोविन्द सिंह,राहुल,भरत सिंह,लोकेंद्र सिंह के साथ छापा मारकर आठ अदद देशी तमंचे 315 बोर,एक देशी बंदूक व तमंचा 12 बोर,2 तमंचे अधबने 315 बोर व भारी मात्रा में उपकरण व सामग्री बरामद की व अवैध शस्त्र कारखाना संचालक ध्रुव सिंह पुत्र दयाराम निवासी सिहौली थाना अयाना को मौके पर गिरफ्तार किया।

जब कि उसका साथी अयोध्या प्रसाद गुप्ता पुत्र छक्की लाल निवासी फिरोज नगर थाना अजीतमल भागने में सफल रहा, इस संबंध में पुलिस अधीक्षक ने बताया कि दोनों आरोपियों पर विभिन्न थानों में तमाम आपराधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस ने दोनों के विरुद्ध सुसंगत धाराओं में मुकदमा कायम कराया है। पुलिस अधीक्षक हरिश चन्दर ने बताया कि दोनों आरोपी आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों की सांठगांठ से आगामी लोकसभा चुनावों में आपराधिक मामलों द्वारा शांतिव्यवस्था भंग करने का षड्यंत्र रच रहे थे। किन्तु पुलिस ने समय रहते उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया, उन्होंने कहा अवैध शस्त्र कारखाने का पूरा नेटवर्क ध्वस्त किया जाएगा।

यदि आप पत्रकारिता क्षेत्र में रूचि रखते है तो जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-