अमर भारती : इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे लाखों छात्रों का सपना होता है कि उन्हें गूगल, फेसबुक और माइक्रोसॉफ्ट जैसी कुख्यात अंतर्राट्रीय कंपनियों में काम करने का मौका मिले। इसके लिए वह IIT में एडमिशन लेने के लिए दिन रात एक कर देते हैं और यदि उन्हें IIT में एडमिशन नही मिलता है तो उन्हें लगता है कि वह कभी एक बड़ी कंपनी में नौकरी नहीं कर पाएंगे, ऐसे में वह अपना सपना छोड़ देते हैं। लेकिन अब्दुल्ला खान ने ऐसा नहीं किया। वह IIT का छात्र नहीं है फिर भी उन्हें गूगल ने एक करोड़ रुपये से ज्यादा का पैकेज ऑफर किया है। मुबंई में रहने वाले 21 साल के अब्दुल्ला खान  इंजीनियरिंग के स्टू़डेंट हैं। जिन्हें गूगल से नौकरी की ऑफर मिला है।

बता दें, वह सितंबर में 1.2 करोड़ रुपये के सालाना पैकेज पर गूगल के लंदन के ऑफिस में शामिल होंगे। खान ने “श्री एलआर तिवारी इंजीनियरिंग कॉलेज”, मीरा रोड, मुंबई से अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है।

कमाल की बात ये हैं उन्होंने गूगल की नौकरियों के लिए कभी आवेदन नहीं किया लेकिन कंपनी के द्वारा उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया गया। उन्होंने “प्रतिस्पर्धी प्रोग्रामिंग चुनौतियों” (competitive programming challenges) को होस्ट करने वाली साइट पर खान की प्रोफाइल देखी जिसके बाद उन्हें गूगल से कॉल आया।

अब्दुल्ला खान ने बताया कि गूगल के कॉल की मुझे कोई उम्मीद नहीं थी. ये कॉल मेरे लिए अचानक से आया था। खान ने कहा- जब उन्होंने प्रतियोगिता में भाग लिया, तो उन्होंने नौकरी की उम्मीद नहीं की, बल्कि मजे के लिए प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था।

पिछले नवंबर में उन्हें गूगल की ओर से आधिक से आधिक  ईमेल प्राप्त हुए। जिसके बाद खान की खुशी का ठिकाना नहीं रहा और उनकी जिंदगी पूरी तरह से बदल गई।

ईमेल के जरिए उन्हें सूचित किया गया था कि कंपनी ने वेबसाइट पर उनकी प्रोफाइल देखी है और वे पूरे यूरोप के लोगों की तलाश कर रहे हैं । इसके बाद कुछ ऑनलाइन इंटरव्यू हुए जिसके बाद फाइनल स्क्रीनिंग के लिए लंदन में Google के कार्यालय में गए।   खान को कोडिंग में मजा आता है, उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा सऊदी अरब से पूरी की है।  वह अपनी कक्षा 12 के बाद मुंबई चले गए और आईआईटी पास करने की कोशिश की, लेकिन नहीं कर पाए. लेकिन उनके इस सफर में ये जानने का मौका मिलता है कि इंसान को मौका उनके हुनर से मिलता है न की किसी बड़े संस्थान में पढ़ाई करने से। खान सितंबर में लंदन में गूगल की साइट “विश्वसनीयता इंजीनियरिंग”,  (reliability engineering) टीम में शामिल हों जाएंगे।

यदि आप भी मीडिया क्षेत्र से जुड़ना चाहते है तो, जुड़िए हमारे मीडिया इंस्टीट्यूट से:-